इटावा : ऑनर किलिंग में मां, चाचा समेत तीन को जेल

इटावा। उत्तर प्रदेश में इटावा जिले के जसवंतनगर क्षेत्र में आनर किलिंग का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है जिसमे एक मॉ ने अपने परिवार की इज्जत की खातिर अपनी बेटी की हत्या देवर और उसके साथी की मदद से कर दी और शव नहर में फेंक दिया। पुलिस ने हत्यारोपी मां, चाचा और एक अन्य को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस अधीक्षक नगर कपिल देव सिंह ने बुधवार को बताया कि अपनी ही बेटी की सम्मान की खातिर हत्या करने के मामले मे मां रेनू, चाचा ब्रजेश कुमार और साथी दलवीर सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है।

बेटी की हत्या करने वाली रेनू ने बताया कि उसने परिवार की इज्जत की खातिर अपनी बेटी की हत्या कर शव को नहर मे फिंकवाया। उसको अपनी बेटी को मौत के घाट उतारने मे कतई तरस भी नहीं आया। चाचा ब्रजेश कुमार ने कहा कि भाभी ने इस बात को बताया कि भतीजी की वजह से परिवार की बदनामी होने जा रही है क्योंकि भतीजी कई लड़कों से ताल्लुकात बनाए हुए है। मना करने पर मानने के लिए तैयार नहीं है, इसलिए भतीजी की हत्या कर शव को नहर मे फेंक दिया।

सिंह ने बताया कि 13 अप्रैल को जसवंतनगर थाना क्षेत्र के ग्राम भतौरा नहर पुल में पानी में एक अंजान बालिका का शव बरामद हुआ था जिसकी पहचान अरविन्द धोबी की पुत्री के रूप हुई थी। शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या का कारण एन्टीमोर्टम स्टेगुलेशन आया। शव मिलने के कई दिनों बाद 18 अप्रैल को मृतका की मां ने लडकी को बहला फुसलाकर भगा ले जाने तथा हत्या करके शव नहर में फेंक देने का मुकदमा जसवंतनगर थाना में दर्ज कराया गया था लेकिन पुलिस की जांच मे मां की ओर से दर्ज कराया गया मुकदमा पूरी तरह से फर्जी पाया गया।

एसपी सिटी ने बताया कि घटना की गंभीरता को देखते हुए एसएसपी ने टीम गठित कर घटना का खुलासा करने ने निर्देश दिए थे। पुलिस की जांच में सामने आया कि नाबालिग बालिका की हत्या में उसके परिजनों का ही हाथ है। जांच के बाद हत्या के आरोप में पुलिस ने मृतक बालिका की मां, उसके चाचा और चाचा के एक साथी को गिरफ्तार कर लिया गया।