गन्ने से शत-प्रतिशत इथेनॉल बनाने वाली मिलों को 59 रुपये प्रति लीटर की सब्सिडी

ethanol making mills subsidy of 59 rupees per liter
ethanol making mills subsidy of 59 rupees per liter

नयी दिल्ली । सरकार ने चीनी उत्पादन को हतोत्साहित करने और गन्ने से सीधे इथेनॉल उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए गन्ने से शत-प्रतिशत इथेनॉल बनाने वाली मिलों को 59.19 रुपये प्रति लीटर की सब्सिडी देने की घोषणा की है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बुधवार को यहाँ हुई बैठक में इस आशय के प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी। तेल एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बैठक के बाद बताया कि जो कंपनियाँ गन्ने के रस से चीनी का उत्पादन किये बिना सीधे शत-प्रतिशत इथेनॉल बनायेंगी उन्हें सरकार प्रति लीटर 59.19 रुपये की सब्सिडी देगी। इससे देश में इथेनॉल का उत्पादन बढ़ेगा।

वर्तमान व्यवस्था के तहत पेट्रोल में 10 प्रतिशत तक इथेनॉल मिलाया जा सकता है। सरकार का लक्ष्य इथेनॉल का इस्तेमाल बढ़ाकर कच्चे तेल का आयात कम करना है। श्री प्रधान ने कहा कि देश में वर्तमान में भारी मात्रा में चीनी का भंडार है और इस फैसले से गन्ना किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य मिल सकेगा।