अमरीका, यूरोपीय संघ ने काबुल में स्कूल में बम विस्फोट की निंदा की

मॉस्को। यूराेपीय संघ(ईयू) और अमेरिका ने अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में बालिकाओं के एक स्कूल में बम विस्फोट की तीखी निंदा की है। काबुल में सैयद अल-शाहदा स्कूल में शनिवार को बम विस्फोट से कम से कम 53 लोगों की मौत हो गई जबकि 151 अन्य घायल हुए हैं।

ईयू के बाह्य कार्रवाई सेवा के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा कि यूरोपीय संघ अफगानिस्तान में भयावह आतंकवादी हमले में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों के प्रति दुख व्यक्त करता है।

बयान में कहा गया कि स्कूल में बच्चों पर हमला न केवल अफगान आबादी पर, बल्कि दुनिया भर में उन सभी पर हमला है जो महिलाओं और लड़कियों के समान अधिकारों का सम्मान करते हैं।

अमरीकी विदेश मंत्रालय ने अफगानिस्तान के स्कूल में बर्बर हमले की निंदा की तथा निर्दोष नागरिकों पर हमले और हिंसा को तत्काल समाप्त करने का आह्वान किया। मंत्रालय ने बम विस्फोट को अफगानिस्तान के भविष्य पर हमला करार दिया।

काबुल में स्कूल पर हमले की किसी आतंकवादी समूह ने जिम्मेदारी नहीं ली है, हालांकि अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने तालिबान विद्रोहियों पर देश में हिंसा बढ़ाने का आरोप लगाया।

तालिबान के प्रवक्ता ज़बीउल्लाह मुजाहिद ने हमले में तालिबान लड़ाकों के शामिल होने से इंकार करते हुए इस्लामिक स्टेट के आतंकवादी समूह (रूस में प्रतिबंधित) पर बम विस्फोट करने का आरोप लगाया है।