अनुशासन की पालना सबको करनी चाहिए : अशोक गहलोत

अलवर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि पार्टी में अनुशासन की पालना सबको करनी चाहिए एवं बयानबाजी नहीं करनी चाहिए और अभी सबका एक ही ध्येय होना चाहिए कि प्रदेश में सरकार कैसे रिपीट हो।

गहलोत ने पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बयान के बारे में सवाल पर आज अलवर में मीडिया से यह बात कही। उन्होंने कहा कि बयान तो नहीं देना चाहिए वैसे तो, पार्टी के महामंत्री वेणुगोपाल ने कहा है कि बयानयाजी कोई नहीं करेंगे, इसलिए हम तो चाहते हैं कि अनुशासन की पालना सब लोग करें।

उन्होंने कहा कि अभी तो एक ही मकसद होना चाहिए कि जनता त्रस्त है। राजस्थान के अंदर एवं पूरे देश मेें तनाव एवं हिसा हो रही है। महंगाई एवं बेरोजगारी को लेकर पार्टी नेता राहुल गांधी पसीना बहा रहे है और प्रतिदिन 25 किलोमीटर पैदल चल रहे हैं, लाखों लोग उनके साथ चल रहे हैं ताकि केन्द्र सरकार पर दबाव बन सके।

उन्होंने कहा कि अभी एक ही ध्येय होना चाहिए कि प्रदेश में अगली सरकार कैसे बने। राजस्थान सरकार इतनी योजनाएं लाई जो इतिहास में कभी नहीं आई और इसका पूरा देश लोहा मान रहा है। कोरोनाकाल में सरकार ने जिस तरह का प्रबंध किया उसका तो पूरी दुनियां लोहा मान रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गुड गर्वनेस दी है, हम तो उसे लेकर निकल पड़े हैं कि अगली बार सरकार कैसे रिपीट हो।

उन्होंने कहा कि अगली बार भी सरकार आएगी तो दावे के साथ कह सकता हूं कि वित्तीय प्रबंधन किए गए हैं और उसके कारण बिजली, पानी, स्वास्थ्य एवं शानदार सड़कें बन रही है। उन्होंने कहा कि अगर जनता कांग्रेस की सरकार को फिर से लाती है तो हम वो काम करके दिखाएंगे जो दुनियां में कहीं नहीं हुए।