पाकिस्तान में इमरान खान को जनसभा के दौरान लगी गोली

लाहौर। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री एवं पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के प्रमुख इमरान खान पर गुरुवार को एक जनसभा के दौरान गोलियां चलाई गईं जिसमें पूर्व क्रिकेटर घायल हो गए और उन्हें लाहौर के एक अस्पताल ले जाया गया।

प्रारंभिक रिपोर्टों के अनुसार खान के पैर में कुछ गोलियां लगी हैं लेकिन वह खतरे से बाहर हैं। घटना के कुछ देर बाद उन्होंने अपने पहले बयान में कहा किे मुझे ऊपर वाले ने दूसरी जिंदगी दी है।

इस घटना के विरोध में रावलपिंडी, इस्लामाबाद और कई अन्य शहरों में लोगों ने सड़कों पर प्रदर्शन किए। प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने विपक्षी नेता खान पर हमले की इस घटना को गंभीर मामला बताते हुए इसकी निंदा की है। उन्होंने एक ट्वीट में खान के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है।

खान पर गुजरांवाला कस्बे में अल्लाहवाला चौक पर एक सार्वजनिक सभा में हमला हुआ, जहां वह कंटेनर पर खड़े होकर समर्थकों को संबोधित कर रहे है। वह देश में मध्यावधि चुनाव की मांग को लेकर लॉन्ग मार्च के नामक राजधानी इस्लामाबाद की ओर से एक जुलूस निकाल रहे हैं।

नई दिल्ली में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरंदिम बागची ने इस घटना के बारे में कोई टिप्पणी करने से इन्कार किया। उन्होंने नियमित संवाददाता सम्मेलन में पाकिस्तान के इस घटनाक्रम का उल्लेख किए जाने पर कहा कि यह अभी ताजा घटना है, इसकी रिपोर्ट आ रही हैं। हम स्थिति पर नजर रखे हुए हैं।

स्थानीय जियो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार इमरान खान पर उस समय हमला हुआ जब वह अपने लॉन्ग मार्च के दौरान लाहौर से इस्लामाबाद की ओर बढ़ रहे थे।

इस दौरान हुई गोलीबारी में खान को पैर में गोली लगी। हमले में कई लोग घायल हो गए हैं। हमलावर ने कंटेनर के नीचे से ऊपर की ओर गोली चलाई, जिसमें खान के पैर पर गोली लगी। इस हमले में पार्टी के नेता फैसल जावेद और अहमद चट्टा भी घायल हुए।

पीटीआई के नेता फवाद चौधरी और इमरान इस्माइल ने बताया कि खान के पैर में गोली लगी जिसके बाद उन्हें बुलेट प्रूफ कार में अस्पताल ले जाया गया। उन्होंने बताया कि सभी घायलों को भी अस्पताल ले जाया गया है।

रिपोर्ट के अनुसार पुलिस ने हमलावर को गिरफ्तार कर लिया गया है। उससे पूछताछ की जा रही है। पीटीआई पार्टी के सदस्यों ने कहा कि आज चार अन्य लोग भी घायल हुए, लेकिन किसी की भी हालत गंभीर नहीं है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यह स्पष्ट नहीं है कि उनके पैर में चोट लगी है या जांच में लगी है। कुछ रिपोर्टों में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि पूर्व प्रधानमंत्री खतरे से बाहर हैं। इससे पहले खान की पार्टी पीटीआई के ही दो नेताओं ने अलग-अलग कहा था कि खान के पैर में गोली लगी है।

प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने वजीराबाद में खान के लॉन्ग मार्च के दौरान उनके कंटेनर पर गोलीबारी की गयी। खान कंटेनर पर खड़े थे। शरीफ ने घटना का संज्ञान लेते हुए इसकी ‘कड़ी निंदा’ की है।

पाकिस्तान सरकार के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के एक ट्वीट के अनुसार शरीफ ने गृह मंत्री राणा सनाउल्लाह को आईजीपी और मुख्य सचिव पंजाब से घटना पर तत्काल रिपोर्ट भेजने का निर्देश दिया है।

सत्तर वर्षीय खान पाकिस्तान में मध्यावधि चुनाव की मांग कर रहे हैं और वह इसको लेकर राजधानी इस्लामाबाद की ओर लांग मार्च नामक एक जुलूस का नेतृत्व कर रहे हैं। पूर्व प्रधानमंत्री एक वरिष्ठ सहायक ने स्थानीय मीडिया से कहा कि यह इमरान खान की हत्या करने का प्रयास था।

पाकिस्तान के जियो टीवी के अनुसार इस घटना के संबंध में एक संदिग्ध को बाद में गिरफ्तार किया गया है। पिछले महीने, पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने खान को चुनाव लड़ने के अयोग्य घोषित कर दिया था। उन पर आरोप है कि उन्होंने विदेशों से मिले उपहारों का ठीक ब्योरा सरकारी एजेंसियों को प्रस्तुत नहीं किया और उनकी बिक्री की आय भी छिपाई।