भिंड के पुलिस थाने में रौब झाड रहा फर्जी आईपीएस पकडाया

Fake IPS caught in Bhind
Fake IPS caught in Bhind

भिंड। मध्यप्रदेश के भिंड जिले के देहात थाना में फर्जी आईपीएस बनकर पुलिस पर रौब दिखाने वाले एक युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस सूत्रों के अनुसार रविवार को फर्जी आईपीएस टी आई अखिलेशपुरी गोस्वामी की कुर्सी पर बैठ गया। वह पुलिस की वर्दी में था और कंधे पर अशोक और आईपीएस का वैज लगा देखकर टीआई ने सेल्यूट किया।

फर्जी आईपीएस ने टीआई से कहा कि उसके रिश्तेदार भिण्ड निवासी दीपू सोनी के खिलाफ मारपीट का मामला दर्ज है। मामले में उसे गलत फंसाया गया है, मामले का डिस्पोट करवा देना।

इस पर टीआई ने फर्जी आईपीएस बने युवक से पूछा कि वह किस बैच से हैं। युवक ने कहा कि वह 2014 बैच से है। टीआई ने कहा कि भिण्ड या चंबल संभाग में आपके बैच को कौन अधिकारी पदस्थ हैं।

फर्जी आईपीएस ने कहा कि वह वर्तमान में ग्वालियर 13वीं बटालियन में पदस्थ है और उसके साथ के दतिया एसपी मयंक अवस्थी हैं। युवक की बात सुनकर टीआई को शक हुआ। टीआई ने भिण्ड एएसपी डॉ. गुरकरनसिंह से बात की।

फर्जी आईपीएस बने युवक की बात टीआई ने भिण्ड एएसपी से मोबाइल पर बात कराई। एएसपी ने अपना परिचय दिया। फर्जी आईपीएस ने एएसपी से पूछा कि आप किस टोली से हो। इतना सुनते ही एएसपी समझ गए कि युवक फर्जी है। एएसपी डॉ. सिंह ने पूछा कि 2014 में आप नहीं थे। युवक ने उल्टे एएसपी से पूछा कि 2014 में आप शुरुआत के या लास्ट के बैच में से किस में थे।

इतना सुनते ही एएसपी ने फर्जी आईपीएस से कहा कि टीआई से बात कराएं। एएसपी ने टीआई से कहा कि यह फर्जी है। इतना सुनते ही टीआई ने अपने तेवर बदल दिए और सीएसपी आलोक शर्मा को सूचना दी।

टीआई ने बताया कि पूछताछ में फर्जी आईपीएस बने युवक ने अपना नाम संजय कुमारी सोनी (30) निवासी नैनोर थाना जिगना हाल क्रेशर मोहल्ला दतिया हाल डी-3 दनिश नगर भोपाल बताया है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ गुरकरनसिंह ने आज बताया कि एक युवक फर्जी आईपीएस बनकर भिण्ड देहात थाने पहुंचा था। टीआई ने बात कराई तो शक हुआ। युवक से बैच के बार में पूछा तो वह सही नहीं बता सका।

साथ ही उसकी भाषा भी आईपीएस जैसी नहीं थी। युवक से आईपीएस के बैज, अशोक, एक डंडा सहित गाडी जब्त की है। मामला दर्ज कर आसपास के जिले में पता कर रहे हैं कि इसने कहीं धोखाधडी तो नहीं की।