केन्द्र सरकार किसानों के सम्मान से नहीं खेले : राकेश टिकैत

जयपुर। किसान नेता राकेश टिकैत ने केन्द्र सरकार को दो टूक शब्दों में कहा कि वह किसानों के सम्मान से खेलने से बाज आए।

सीकर में किसान महापंचायत में भाग लेने आए टिकैत ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि यह आंदोलन गैर राजनीतिक हैं तथा गरीब किसानों की रोजीरोटी से जुड़ा हुआ हैं।

उन्होंने कहा कि यह आंदोलन लम्बा चलने वाला है। उन्होंने कहा कि किसानों का संयुक्त मोर्चा मोर्चा द्वारा आयोजित यह किसान आंदोलन केन्द्र सरकार द्वारा किसानो के लिए लाये गये तीनों कानून वापस नहीं लिये जाने तक जारी रहेगा।

इससे पूर्व महापंचायत में हजारों की संख्या में आए किसानों को संबोधित करते हुये श्री टिकैत ने केन्द्र सरकर पर आरोप लगाया कि वह आंदोलनकारी किसानेां को जातियों में बांटकर तोडने की नापाक कोशिश कर रही है जिसे किसान सफल नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा राजस्थान से किसानों की लड़ाई लडी जायेगी। यहां की मिट्टी और किसान मजबूत हैं।

टिकैत ने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से दिल्ली में संसद के घेराव का कार्यक्रम बनाया जा रहा है और अगली बार 40 लाख टैक्टर दिल्ली में कुच करेगें और संसद का घेराव करेंगे। उन्होंने कहा कि वर्ष 1988 में जहां पर किसानों के आंदोलन हुये वहां पर किसान टैक्टर चलेगा और खेतों की जुताई होगी। इंडिया गेट में जहां गार्डन हैं वहां किसान टैक्टरों से जुताई करेगें। दिल्ली में किसानों की क्रांति होगी।

महापंचायत को पूर्व विधायक एवं किसानसभा के अध्यक्ष का अमराराम एवं योगेन्द्र यादव तथा युद्ववीरसिंह सहित कई किसान नेताओं ने संबोधित किया। टिकैत ने इससे पूर्व चूरू जिले के सरदारशहर में आयोजित किसान महापंचायत को भी संबोधित किया।