आप विधायकों ने केजरीवाल के सामने मुझे पीटा : मुख्य सचिव

FIR filed against AAP MLA on complaint from Delhi Chief Secretary
FIR filed against AAP MLA on complaint from Delhi Chief Secretary

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने मंगलवार को आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान और एक अन्य विधायक ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सामने उनके सरकारी आवास में उनसे मारपीट की।

उन्होंने कहा कि वह मारपीट करने वाले एक अन्य विधायक की पहचान कर सकते हैं। आम आदमी पार्टी ने हालांकि इन आरोपों से इंकार किया है और कहा कि मुख्य सचिव भारतीय जनता पार्टी के इशारे पर फर्जी आरोप लगा रहे हैं।

प्रकाश ने मंगलवार को पुलिस शिकायत में कहा कि विधायक अमानातुल्लाह खान और मेरी बाई तरफ खड़ा विधायक/व्यक्ति, जिसकी पहचान मैं कर सकता हूं, ने मेरी तरफ से बिना किसी उकसावे के मुझे पीटना शुरू कर दिया। उन्होंने मुझे मेरे सिर और कनपटी पर कई बार मारा।

प्रकाश ने कहा कि इस दौरान मेरा चश्मा जमीन पर गिर गया और मैं पूरी तरह ‘सदमे की स्थिति’ में पहुंच गया। उन्होंने कहा कि घटना के बाद मैं किसी तरह कमरे से बाहर जाने, अपने आधिकारिक कार में बैठने और मुख्यमंत्री आवास को छोड़ने में सफल हुआ।

मुख्य सचिव ने अपनी शिकायत में कहा है कि कमरे में उपस्थित किसी ने भी मुझे बचाने का प्रयास नहीं किया।

शिकायत के अनुसार प्रकाश को सोमवार आधी रात बैठक के लिए अरविंद केजरीवाल के आवास पर बुलाया गया था, जहां केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और 11 विधायक उपस्थित थे।

प्रकाश ने कहा कि यह बैठक ‘दिल्ली सरकार के तीन वर्ष पूरे होने के अवसर पर कुछ टीवी विज्ञापनों को जारी करने में आ रही परेशानी’ को लेकर थी।

मुख्य सचिव ने कहा कि उन्हें एक कमरे में ले जाया गया और एक विधायक ने कमरा बंद कर दिया। वह तीन सीट वाले सोफे पर खान और एक अन्य विधायक के बीच में बैठे थे।

उन्होंने कहा कि विधायक मुझपर चिल्लाने लगे और मुझपर आरोप लगाने के दौरान मुझे गाली दिया गया। उन्होंने मुझे कहा कि नौकरशाही सरकार का प्रचार करने के लिए कुछ नहीं कर रही है।

शिकायत के अनुसार कि इसके बाद उनपर बिना किसी उकसावे के हमला किया गया। इसबीच आप ने कहा कि केजरीवाल के आवास पर बैठक ‘आधार के गलत तरीके से कार्यान्वयन’ को लेकर थी, जिस वजह से 2.5 लाख परिवार राशन से वंचित हो गए हैं।