पंचायत समिति अजमेर ग्रामीण की पहली साधारण सभा में छाया पेयजल का मुद्दा

अजमेर। पंचायत समिति अजमेर ग्रामीण की पहली साधारण सभा गुरुवार को महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय अजमेर के सभागार में पुष्कर विधायक सुरेश सिंह रावत के मुख्य आतिथ्य व प्रधान सीमा रावत की अध्यक्षता में आयोजित हुई।

बैठक को संबोधित करते हुए विधायक रावत ने कहा कि जनहित के मुद्दों के समाधान के लिए साधारण सभा का आयोजन अत्यंत आवश्यक है। कोरोना महामारी के कारण उचित समय पर आयोजन ना हो सका। सभी सदस्यों व ग्रामीणों को नवीन पंचायत समिति अजमेर ग्रामीण के सृजन की शुभकामनाएं। उन्होंने भरोसा दिलाते हुए कहा कि हमारे गांवों का सर्वांगीण विकास होगा। रावत ने अधिकारियों को चेताया कि विकास व जनकल्याण के कार्यों में भेदभाव ना हो इसका पूर्ण ध्यान रखें। समान रूप से सभी पंचायतों में विकास के कार्य करवाएं जाएं।

इसके साथ ही रावत ने समस्याएं सुनीं व अधिकारियों को जनसेवा के प्रति समर्पित होकर ग्रामीणों की समस्याओं के समाधान त्वरित प्रभाव से करने के निर्देश दिए।

प्रधान सीमा रावत ने कहा कि पंचायत समिति का अभी ना कोई दर है, ना ठिकाना लेकिन जनता के हितों के प्रति सदैव समर्पित रहने वाले हमारे विधायक रावत के पूर्ण मार्गदर्शन से ही समय पर साधारण सभा का सफल आयोजन हो सका है।

सीमा रावत ने कहा कि पंचायत समिति क्षेत्र में विकास को लेकर कोई भी कमी नहीं आने दी जाएगी। मैं सभी पंचायत समिति सदस्यों एवं जिला परिषद सदस्यों के सहयोग से मिलजुल कर उनको साथ लेकर विकास करूंगी। मैं आपके विश्वास पर सदा खरी उतरूंगी।

साधारण सभा में पेयजल समस्या का मुद्दा छाया रहा। उपस्थित जनप्रतिनिधियों ने बीसलपुर का पानी 5-5 दिन 10-10 दिनों से पहुंचने की शिकायत दर्ज कराते हुए उपस्थित जलदाय विभाग के अधिकारियों को खरी-खरी सुनाई। तबीजी सरपंच राजू गैना ने तबीजी में एडीए समस्या, वर्षों से पट्टे नहीं बनने व लाखों रूपए की राशि जमा करा देने के बावजूद भी पट्टे नहीं मिलने की शिकायत सभा में दर्ज कराई।

इस मौके पर विकास अधिकारी विजय सिंह चौहान, जिला परिषद सदस्य महेंद्र सिंह मझेवला, श्रवण सिंह रावत, श्रीलाल तंवर, कड़ेल सरपंच लक्ष्मी कंवर राठौड़, सराधना सरपंच हरिकिशन जाट, रामनेर की ढाणी सरपंच मुकेश धाकड़, कायमपुरा सरपंच, हटुंडी सरपंच पंचायत समिति सदस्य प्रतिनिधि डुमाड़ा कन्हैया लाल गुर्जर, पंचायत समिति सदस्य दौराई ज्ञानचंद पंचायत समिति सदस्य हंसराज वैष्णव, रतन लाल गुर्जर, शंकर लाल पटियाल, तबीजी सरपंच राजेंद्र गैना, तिलोरा सरपंच समंदर सिंह रावत, बासेली सरपंच ओमप्रकाश पंवार, देवनागर सरपंच लाली देवी, गगवाना सरपंच गुलजान खानम, पंचायत समिति सदस्य मोहम्मद असलम पठान, कायड सरपंच सुरजा देवी, गेगल सरपंच हाजी फकरूदिन, हाथीखेड़ा सरपंच लालसिंह रावत अजयसर सरपंच, खोरी सरपंच रजनी योगी सहित कई जनप्रतिनिधि मौजूद थे।