नर्मदा का पानी लाने को निकले कांग्रेस के भगीरथ, शुरू हुई नर्मदा पदयात्रा

Narmada post visit started under the leadership of former chief alumnus Ratna Devasi in Rannwara assembly of Jalore district
Narmada post visit started under the leadership of former chief alumnus Ratna Devasi in Rannwara assembly of Jalore district

सबगुरु न्यूज-रानीवाड़ा(जालोर)। जालोर जिले के रानीवाड़ा तहसील के गांवों में नर्मदा का पानी लाने के लिए कांग्रेस ने पूर्व मुख्य सचेतक रत्न देवासी के नेतृत्व में नीर नर्मदा पदयात्रा शुरू की। इस यात्रा के प्रथम चरण की शुरुआत गुरुवार कीपुर ग्राम पंचायत के राजीव नगर से हुई। प्रथम दिन 30 किलोमीटर की पैदल यात्रा पूरी करके गुजरात की सीमा पर स्थित नोनुर गांव में सम्पन्न हुई। प्रथम दिन इस यात्रा में शामिल करीब 700 से ज्यादा कांग्रेस जनों का ग्रामीणों ने जगह जगह जोरदार स्वागत किया। इसका प्रथम चरण शुक्रवार को खत्म होगा। शुक्रवार के दूसरे दिन भी ये सभी कांग्रेस जन 30 से 40 किलोमीटर तक पैदल यात्रा करेंगे।
नीर नर्मदा पेयजल, क्षेत्र की जन समस्या, जन कल्याण कारी योजनाओ व विकास कार्या की मांग को लेकर नीर नर्मदा यात्रा शुरू होने पर नेतृत्वकर्ता रत्न देवासी का महिलाओं ने अभिनंदन किया।  पुर ग्राम पंचायत के पूर्व संरपच भीखाराम विश्नोई ने साफा बांधकर देवासी का अभिनंदन किया। ग्रमीणों ने आगामी 2018 के चुनाव मे एकजुट होकर काग्रेस पार्टी कों तन, मन व धन से सहयोग देकर विजयी बनाने का संकल्प किया। इसके बाद राजीव नगर से नेनोल ग्राम पंचायत तक पैदल यात्रा की रवानगी से पूर्व कुड़ा रामदेव मंदिर मे पुजा-अर्चना कर पैदल यात्रा की।

Ratan dewasi leading the neer Narmada padyatra in raniwada of jalore district

यहां रतन देवासी ने सभा को संबोधित किया। रास्ते में माहिलाओं एवं आमजन ने साफे व माला पहनाकर सहयोग का आश्वासन दिया।
जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डॉ. समरजीतसिंह ने बताया कि वर्तमान भाजपा सरकार आमजन व गरीब जनता के हितों के खिलाफ खिलवाड़ कर रही है जिस से आमजन का सरकार के प्रति विश्वास उठ गया है।
सांचोर के पूर्व विधायक हिरालाल विश्नोई ने कहा कि आपसी मनमुटाव भुलाकर 2018 में कांगेस पार्टी के हित में आमजन का सहयोग का सर्मथन मांगा।

Villagers acclaiming the ratan dewasi before neer Narmada padyatra

रतन देवासी के साथ पद यात्रा में रानीवाडा प्रधान रमिला मेंघवाल, ब्लॉक अध्यक्ष परसराम ढाका, पूर्व उप प्रधान दरगाराम देवासी, अमलूराम माजूं, मांगीलाल गुलसर, वरिंगाराम विश्नोई, पूर्व संरपच सांवताराम विश्नोई, वागाराम जाट, जयकिशन, सुरेश सियाक,    विशनोई, बाबू गिरी भुतवाण, गुलाबगिरी नेनोल, मफ गिरी कांटोल, उत्तम गिरी वालीखेड़ा, भागीरथ ढ़ाका, भगवानाराम भादु कुड़ा,  महेन्द्रपालसिह चेकला, कृष्ण चौधरी सांकड़,, सुरेश सियाक, केलाश पुरी वोड़ा, सेसाराम संरपच, जिला परिषद सदस्य वचनाराम मेघवाल, शंकर चौघरी, पूर्व संरपच आसूराम मौखातरा, लादुराम विश्नोई, उमाराम पुर, रवाराम भील,रामकिशन माजू, आसूराम विश्नाई, वरधाराम माली, अम्बालाल चितारा,  रडमाराम भाट, रमेश कटारीया, विकास सोंलकी, महेश बोहरा, पुष्कर पुरोहित , रामा भाई, सहित सैकड़ो महिलाओ पुरुषों व बच्चों ने शामिल थे।
-क्यों पड़ी इस यात्रा की जरूरत
राजस्थान विधानसभा के पूर्व उप सचेतक रत्न देवासी ने दावा किया है कि उनके कार्यकाल में 2013-14 के बजट में सांचोर से रानीवाड़ा तक का डी आर प्रोजेक्ट स्वीकृत करवाया था। इसकके लिए पाइप वगैरह आ गए। ठेका भी हो गए, लेकिन जिस प्रोजेक्ट के 2016 तक पूरा कर लिया जाना था उसे अब तक दो कदम भी नहीं बढ़ाया जा सका है।

इस कारण रानीवाड़ा ब्लॉक और विधानसभा में इस पानी का पेयजल के लिए वितरण नहीं किया जा सका। रानीवाड़ा के लोगों को ये प्रोजेक्ट पूरा नहीं होने से शुद्ध पीने का पानी भी नहीं मिल पाया। गत महीने देवासी ने अनशन किया था तो नर्मदा प्रोजेक्ट के अधिकारियों ने कई जगह ओवरहेड टैंक बनवाये। लेकिन, मुख्य पाइप लाइन ही नही बिछ पाई तो इन ओवरहेड टैंक के भरने का सवाल नही उठता।
-सिरोही में इसी पाइपलाइन को आना था
सिरोही के विधायक ओटाराम देवासी ने सिरोही की जनता को नर्मदा का कांच के जो लडडू दिखाया था उसकी शुरुआत इसी प्रोजेक्ट के आगे से होनी थी। ऐसा नहीं है कि नर्मदा का पानी सिरोही नहीं सकता है, लेकिन उसके पीछे एक तकनीकी पहलू है और वो ये कि मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान के बीच जो समझौता हुआ था उसमें राजस्थान के सिर्फ जालोर और बाड़मेर को ही इसका पानी दिया जाना था। सिरोही को नहीं।

सिरोही में इसका पानी रानीवाड़ा से बिना लिफ्टिंग के पहुंच सकता है, लेकिन इसके लिए मूल समझौते में जालोर और बाड़मेर के साथ सिरोही का भी नाम शामिल किया जाना था। ये काम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करवाकर सुमेरपुर में किये गए अपने चुनावी वायदे को पूरा कर सकते थे, लेकिन 4 साल बीतने पर भी ऐसा कुछ नही किया जा सका।

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए, और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE और वीडियो के लिए विजिट करे हमारा चैनल और सब्सक्राइब भी करे सबगुरु न्यूज़ वीडियो