मैसूरु में छात्रा से गैंगरेप के पांच आरोपी अरेस्ट

बेंगलूरू। कर्नाटक के मैसूरु में दिल काे झकझोर देने वाले सामूहिक दुष्कर्म मामले में पुलिस ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि आरोपियों को तमिलनाडु से गिरफ्तार कर यहां लाया गया।

राज्य के गृह मंत्री अरगा ज्ञानेन्द्र ने बताया कि पुलिस ने पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। कर्नाटक के पुलिस महानिदेशक प्रवीण सदू बेंगलूरु से मैसूरु जा रहे हैं। पुलिस ने कहा कि पुलिस को घटनास्थल से जुटाए गए साक्ष्यों के आधार पर आरोपियों का पता लगाने में कामयाबी मिली।

पुलिस ने कहा कि मोबाइल फोन से कुछ महत्वपूर्ण डेटा मिले हैं। उन्होेंने कहा कि आरोपियों ने दुष्कर्म पीड़िता के दोस्त के पिता से संपर्क किया और उससे तीन लाख रुपए की फिरौती भी मांगी थी।एपुलिस ने बताया कि सभी आरोपी पड़ोसी राज्य तमिलनाडु के रहने वाले हैं और मजदूरी करते हैं।

गौरतलब है कि 24 अगस्त को एक छात्रा अपने दोस्त के साथ मोटरसाइकिल पर जा रही थी तभी एक गिरोह के छह सदस्यों ने चामुंडी हिल्स के पास ललिताद्रिपुरा में उन्हें को रोक लिया और उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। इस घटना की पूरे देश में निंदा की गई।

इस घटना के बाद कर्नाटक कांग्रेस ने राज्य की भारतीय जनता पार्टी सरकार पर कानून-व्यवस्था बनाये रखने में विफलता का आरोप लगाते हुए जोरदार हमले किये। पुलिस और राज्य सरकार पर इस मामले में लापरवाही बरतने के भी आरोप लगे हैं।

पीड़िता का वर्तमान में एक अस्पताल में उपचार किया जा रहा है। पीड़िता के पुरुष मित्र ने प्राथमिकी में शिकायत की है कि उसे रास्ते में रोका गया और उसके साथ बेरहमी से मारपीट की गई।

आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम पुरस्कृत

मैसूरु में सामूहिक बलात्कार मामले के आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल करने वाले पुलिस कर्मियों को पांच लाख रुपये इनाम देने की सरकार ने घोषणा की है। राज्य के गृह मंत्री अरगा ज्ञानेंद्र ने कहा कि इस सफलता पर वह सरकार की ओर से पुलिस विभाग को बधाई देते हैं।

ज्ञानेंद्र ने कहा कि उन्होंने और मुख्यमंत्री ने आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने का निर्देश दिया था। उन्हें विश्वास था कि पुलिस इस मामले में जल्द से जल्द सफलता हासिल कर लेगी और आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

इस तरह की त्वरित कार्रवाई करके पुलिस विभाग ने लोगाें में एक अच्छा संदेश दिया है। पुलिस ने चुनौती स्वीकार करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने बताया कि इस अभियान में भाग लेने वाली पुलिस टीमों के लिए पांच लाख रुपए के पुरस्कार की घोषणा की गई है। उन्होंने कहा कि मैसूरु में तमिलनाडु और केरल से आने जाने वालों की संख्या बढ़ रही है, आने-जाने वालों को सीमा पर रोका नहीं जा सकता।

उन्हाेंने कहा कि गृह मंत्री ने कहा कि बलात्कार की घटना दोबारा होने से रोकने के लिए विशेष योजना बनाई जा रही है। चामुंडी पहाड़ी के आसपास पुलिस गश्त की व्यवस्था की गई है। शाम सात बजे के बाद चामुंडी पहाड़ी पर जाने वालों की सुरक्षा के लिए आसपास पहरा देने और गश्त करने का निर्देश पुलिस दिया गया है|