वाजपेयी की हालत बेहद नाजुक, नेताओं का तांता लगा, एम्स में सुरक्षा बढी

AIIMS says atalji's Condition Critical and he is on life support system
AIIMS says atalji’s Condition Critical and he is on life support system

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत पूर्ववत नाजुक बनी हुई है और वह जीवन रक्षक प्रणाली पर बने हुए हैं। इसबीच अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में शीर्ष नेताओं का वाजपेयी को देखने आने का सिलसिला बना हुआ है। एम्स की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है।

एम्स ने ताजा बुलेटिन में उम्मीद की कोई किरण नहीं दिखाई दी है। एम्स की मीडिया एवं प्रोटोकाल डिवीजन की प्रमुख प्रो. आरती विज ने करीब 11 बजे दो पंक्तियों का बुलेटिन जारी किया जिसमें कहा गया कि वाजपेयी की सेहत यथावत बनी हुई है। उनकी हालत नाजुक है और वह जीवनरक्षक प्रणाली पर बने हुए हैं।

एम्स ने कल रात मेडिकल बुलेटिन में कहा था कि पूर्व प्रधामंत्री अटल बिहारी वाजपेयी पिछले नौ सप्ताह से एम्स में भर्ती हैं दुर्भाग्य से पिछले 24 घंटों के दौरान उनकी हालत बिगड़ी है। उनकी हालत अति गंभीर है और उन्हें जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया है।

पूरे देश की निगाहें एम्स पर लगीं हुईं हैं। उपराष्ट्रपति एम वेंकैयानायडू  वाजपेयी को देखने आज सुबह अस्पताल पहुंचे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाजपेयी के स्वास्थ्य को लेकर लगातार नजर रखे हुए हैं। मोदी कल देर शाम वाजपेयी का हालचाल जानने एम्स गए थे और उनका उपचार कर रहे डाक्टरों से बातचीत की थी।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी, रामविलास पासवान, गिरिराज सिंह हरियाणा के राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी, भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी और पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी उनका हाल जानने के लिए आज सुबह एम्स पहुंचे। इसके बाद केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने भी एम्स जाकर वाजपेयी की स्वास्थ के बारे में जानकारी ली। कई अन्य नेता भी पूर्व प्रधानमंत्री का हालचाल जानने अस्पताल पहुंच रहे हैं।

बड़ी संख्या में केन्द्रीय मंत्रियों राजनीतिक दलों के नेताओं और उनके प्रशंसकों के आने के कारण यहां सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई। संयुक्त पुलिस आयुक्त (दक्षिण) देवेश श्रीवास्तव के नेतृत्व में बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को एम्स के आसपास तैनात किया गया है। एम्स के बाहर और उसके अंदर वरिष्ठ अधिकारी मौजूद हैं और यातायात को सामान्य बनाए रखने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

उधर, वाजपेयी के आवास 6 कृष्णमेनन मार्ग पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है और वहां पर अधिकारियों की हलचल बढ़ गई है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के अपने अपने कार्यक्रम रद्द करके दिल्ली के लिए रवाना होने की सूचना मिली है। वाजपेयी को गत 11 जून को एम्स में भर्ती किया गया था।

वाजपेयी के लिए महाकालेश्वर मंदिर में महामृत्युंजय जाप

अटलजी की हालत बेहद नाजुक, एम्स ने जारी किया ताजा बुलेटिन