चार करोड़ घरों को एक साल में मिलेगी बिजली : मोदी

four crores houses to get electricity in country within a year, announces PM Modi

लेह। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि दशकों से बिजली से वंचित करीब चार करोड़ घरों को एक साल के भीतर बिजली उपलब्ध कराई जाएगी।

मोदी ने कहा कि आजादी के 70 साल गुजर जाने के बाद भी 18,400 से अधिक गांव ऐसे हैं, जहां के घरों में बिजली का एक बल्ब भी दिखाई नहीं दिया। उन्होंने कहा कि 2014 में सत्ता में आने के बाद उनकी सरकार ने प्रत्येक गांवो में बिजली उपलब्ध कराने के लिए एक नीति बनाई है। हम देश में सभी गांवो में बिजली मुहैया कराने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में 19 गांवों में लोगों ने कभी बिजली नहीं देखी है, लेकिन इन गांवो में भी एक वर्ष के अंदर बिजली उपलब्ध करा दी जाएगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि लद्दाख क्षेत्र में सौर उर्जा उत्पादन की प्रचुर संभावनाएं हैं। यह क्षेत्र देश में सबसे बड़ा सौर उर्जा उत्पादित कर सकता है। उन्होंने कहा कि हम इस दिशा में काम शुरू करेंगे। देश और राज्य के विभिन्न हिस्सों को सौर उर्जा का पारेषण जटिल भू-भाग होने के कारण एक चुनौती है। उन्होंने कहा कि सरकार ने देश में लोगों को निशुल्क गैस कनेक्शन भी उपलब्ध कराए हैं।

मोदी ने कहा कि जोजिला सुरंग के निर्माण से श्रीनगर, लेह और कारगिल के बीच सभी मौसमों में सड़क संपर्क स्थापित हो जाएगा। उन्होंने कहा कि सुरंग के निर्माण के बाद कारगिल जिले में पर्यटकों की संख्या में कई गुना वृद्धि हो जाएगी। फिलहाल कारगिल में हर साल करीब 40 हजार पर्यटक आते हैं।

उन्होंने कहा कि लेह के लोगों को पर्यटकों को घर में ठहराने की व्यवस्था को अपनाया है जो लोकप्रिय हो चुका है। उन्होंने कहा कि मुझे बताया गया कि लेह में लोग पर्यटकों को अपने घरों में ठहराते हैं ताकि वे लेह की खान-पान और अन्य परंपराओं को जान पाएं। यह व्यवस्था काफी लोकप्रिय हो चुकी है।

मोदी ने कहा कि लद्दाख विदेशी और घरेलू पर्यटकों के बीच काफी लोकप्रिय स्थान बन चुका है। मुझे बताया गया कि रोजाना वायु मार्ग से 2000 पर्यटक लेह आते हैं। सुरंग के निर्माण से निश्चित रुप से क्षेत्र के लाेगों की आय में वृद्धि होगी।

प्रधानमंत्री ने घाटी में जारी तनाव के कारण पर्यटकों के आगमन प्रभावित होने के बारे में चर्चा किए बगैर कहा कि जम्मू कश्मीर के लोगों को लद्दाख के लोगों से सबक लेना चाहिए। मोदी ने लद्दाख के सिंधु मेला और अन्य महोत्सव की चर्चा करते हुए कहा कि इनसे भी पर्यटकों का आवागमन बढ़ेगा।