फॉक्सकॉन ने कर्मचारियों की कम उपस्थिति के साथ खोला अपना संयंत्र

चेन्नई। ताईवान की मोबाइल निर्माण कंपनी फॉक्सकॉन ने बुधवार को चेन्नई से करीब 40 किलोमीटर दूर श्रीपेरंबदूर में लगभग तीन सप्ताह के अंतराल के बाद अपने संयंत्र को फिर खोल दिया।

मामले की शुरुआत कारखाने के निवास स्थल में विषाक्त भोजन परोसने से हुई थी, इसके अलावा खाने की गुणवत्ता और बुनियादी सुविधाओं में कमी जैसे भी कई मसले रहे, जिसकी वजह से यहां के महिला कर्मचारियों ने बड़े पैमाने पर विरोध किया था।

इतना ही नहीं, यहां के कर्मचारियों के पिछले साल 18 दिसंबर को चेन्नई-बेंगलूरु राष्ट्रीय राजमार्ग को अवरुद्ध भी कर दिया था। मामले की गंभीरता को देखते हुए तमिलनाडु के ग्रामीण उद्योग मंत्री टीएम अनबरसन और श्रम मंत्री सीवी गणेशन ने लंबी वार्ता की और आंदोलन खत्म कराया।

इस दौरान, कंपनी प्रबंधन ने भी राज्य सरकार के अधिकारियों से मुलाकात की और सुविधाओं में सुधार का वादा किया, जबकि विषाक्त भोजन से प्रभावित महिला कर्मचारियों को वेतन सहित छुट्टी दी गई। अब हालांकि संयंत्र को कर्मचारियों की कम उपस्थिति के साथ पुन: खोल दिया गया। उल्लेखनीय है कि प्लांट में एप्पल के आईफोन का निर्माण किया जाता है और करीब 15000 कर्मी यहां काम करते हैं।