बाराबंकी में असदुद्दीन ओवैशी पर तिरंगे के अपमान का भी मुकदमा

बाराबंकी। उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने समेत अन्य धाराओं में दर्ज मुकदमे के बाद आज तिरंगे के अपमान का मुकदमा दर्ज किया गया है।

एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी पर बीती रात बाराबंकी कोतवाली में पुलिस की ओर से सामप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने व धार्मिक भावना भड़काने समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था। उस पर बिना अनुमति जनसभा करने और लोगों को रामसनेही मस्जिद के नाम पर भड़काने का आरोप लगा था। मुकदमे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने का भी आरोप है।

गौरतलब है कि अपने तीन दिन के उत्तर प्रदेश दौरे के दौरान ओवैसी ने कल बाराबंकी में बिना अनुमति एक जनसभा को संबोधित किया था। दरियाबाद से भारतीय जनता पार्टी के विधायक सतीश चंद्र शर्मा की शिकायत के बाद हरकत में आई पुलिस ने बिना अनुमति के जनसभा करने और धार्मिक भावनाओं को भड़काने, धारा 144 व कोविड-19 एवं महामारी अधिनियम के तहत ओवैसी और आयोजकों पर मुकदमा दर्ज किया था।

आज जनसभा की तस्वीरें वायरल होने के बाद उसी मुकदमे में राष्ट्रीय ध्वज के अपमान की धाराएं भी जोड़ दी गईं। ओवैसी पर राष्ट्रीय ध्वज को फहराने की जगह एक खंभे पर लपेटने का आरोप लगा है। जो तस्वीरें सामने आई हैं उसमें ओवैसी के ठीक बगल में राष्ट्रीय ध्वज एक खंभे पर लपेटा नजर आ रहा है।