कल से मोदी सरकार आपके लिए ला रही है सस्ते सोने वाली स्कीम

नई दिल्ली। अगर आप इन दिनों सोना खरीदने की सोच रहे हैं तो हो जाइए तैयार। केंद्र की मोदी सरकार आपके लिए सस्ता सोना खरीदने वाली स्कीम एक बार फिर से ला रही है। लेकिन यह ऑफर 3 दिनों के लिए ही रहेगा, जो कि 13 जनवरी यानी कल से 17 तक ही है। यहां हम आपको बता दें कि पिछले कई दिनों से अमेरिका और ईरान के बीच युद्ध जैसे हालात बनने पर इंटरनेशनल मार्केट में सोने का भाव बहुत बढ़ गया था, इसका असर हमारे देश पर भी पड़ा है।

इस हालात की वजह से शेयर बाजार और रुपये में गिरावट देखने को मिली तो वहीं सोने की कीमत भी बढ़ गई। इस दौरान सोने की कीमत 41 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम के रिकॉर्ड स्‍तर को पार कर लिया। हालांकि इन दिनाें सोने की चमक थोड़ी फीकी हो गई है लेकिन अब भी यह 40 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम के स्‍तर के पार है।

13 जनवरी से 17 तक ही खरीद सकते हैं यह सोना

हम आपको बताते हैं कि केंद्र सरकार आपको 3 दिनों तक सोना खरीदने का सुनहरा अवसर दे रही है। दरअसल, केंद्र की मोदी सरकार की ”सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड” स्कीम के तहत एक बार फिर सस्‍ता सोने की खरीदारी की जा सकती है। बॉन्‍ड के जरिए निवेश वाली इस स्‍कीम के तहत खरीदारी 13 से 17 जनवरी 2020 के बीच में की जा सकती है। इस गोल्‍ड बॉन्‍ड की कीमत 4,016 रुपये प्रति ग्राम निर्धारित की गई है।

वहीं अगर आप इस बॉन्‍ड की ऑनलाइन तरीके से आवेदन और भुगतान करते हैं तो आपको प्रति ग्राम 50 रुपये की छूट मिलेगी। इसका मतलब ये हुआ कि प्रति 10 ग्राम पर निवेशकों को 500 रुपये की बचत होगी। इस छूट के बाद गोल्ड बॉन्‍ड की कीमत 3,966 रुपये प्रति ग्राम हो जाएगी। यानी अगर आप ऑनलाइन 10 ग्राम गोल्‍ड बॉन्‍ड खरीदते हैं तो इसके एवज में 39,660 रुपये देने होंगे।

यह स्कीम केंद्र सरकार ने वर्ष 2015 में आरंभ की थी

सोने की फिजिकल डिमांड को कम करने के लिए साल 2015 में मोदी सरकार ने सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना की शुरुआत की थी। इस योजना की सीरीज के तहत समय-समय पर लोगों को गोल्‍ड बॉन्ड खरीदने का मौका दिया जाता है। इस गोल्‍ड बॉन्ड की कीमत बाजार में चल रहे रेट से कम होती है। इसकी कीमत रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की ओर से तय की जाती है । इसके तहत कोई भी व्यक्ति एक वित्तीय वर्ष में अधिकतम 500 ग्राम के गोल्‍ड बॉन्ड खरीद सकता है। वहीं इस बॉन्ड में न्यूनतम निवेश एक ग्राम है इसके अलावा टैक्‍स पर भी छूट मिलती है। इस गोल्‍ड की बिक्री बैंकों, डाकघरों, एनएसई और बीएसई के अलावा स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड के जरिए होती है।

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार