आनासागर झील में गणपति की मूर्ति विसर्जन नहीं किए जा सकेंगे

अजमेर। राजस्थान के अजमेर में अनंत चतुर्दशी अथवा इससेेे पहले होने वाले गणपति विसर्जन आनासागर अथवा किसी भी सार्वजनिक तालाब में नहीं किए जा सकेंगे।

महापौर बृजलता हाडा ने राज्य सरकार की सात सितंबर की निर्देशों की रोशनी में गणपति विसर्जन के लिए नगर निगम की ओर से बनाए जाने वाले कुंड की व्यवस्था भी नहीं करने का निर्णय लिया है।

उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी में एतिहात बरतते हुए राज्य सरकार ने जिला कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक को इस आशय के निर्देश दिए है कि अनंत चतुर्दशी पर किसी भी प्रकार के भीड़भाड़ वाले कार्यक्रम एवं जुलूस संभव नहीं हो सकेंगे।

लिहाजा उन्होंने अजमेर शहर वासियों से गणेश प्रतिमाओं को घर पर ही विसर्जित करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि आनासागर झील में प्रतिमा विसर्जन करने वालों को पुलिस रोकने का काम करेगी।

उल्लेखनीय है कि आने वाली 19 सितंबर को अनंत चतुर्दशी पर गणेश जी की प्रतिमाओं का विसर्जन होना है लेकिन जिन श्रद्धालुओं ने अपने घरों पर पांच अथवा सात दिन के गणेश जी बैठाए उन्होंने गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन भी शुरू कर दिया है।