ढाई साल में गहलोत सरकार ने एक भी वादा पूरा नहीं किया : देवनानी

अजमेर। राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी के अजमेर विधायक एवं पूर्व शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने राज्य सरकार को अंधेरी नगरी चौपट राजा की संज्ञा देते हुए कहा है कि पिछले ढाई साल में जनता से किया गया एक भी वादा पूरा नहीं हुआ है।

देवनानी ने एक ट्वीट के जरिए गहलोत सरकार पर आरोप लगाया कि राज्य में कांग्रेस सरकार अपने ढाई साल के कार्यकाल में पूरी तरह विफल एवं अकर्मण्य रही है। मुख्यमंत्री स्वयं दो साल से घर से बाहर नहीं निकले हैं और कांग्रेस विधायक एवं कार्यकर्ता खुद अपने मंत्रियों पर काम न करने का आरोप लगा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि कोरोनाकाल की पहली एवं दूसरी लहर के बावजूद स्वयं के धरातल पर उतरने का दावा खोखला है। मुख्यमंत्री 64 फीसदी घोषणाओं को पूरा करने की बात कह रहे हैं और कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष एवं शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा 52 फीसदी वादों को पूरा करने की बात कर रहे है, जबकि वास्तविकता यह है कि जनता से किए गए वादे पूरे नहीं हुए हैं। ऐसे दावे करने वालों को शर्म आनी चाहिए।

उल्लेखनीय है कि देवनानी ने यह ऐसे समय ट्वीट किया है जब कांग्रेस सरकार के जन घोषणा पत्र क्रियान्वयन की दूसरी समीक्षा बैठक घोषणा पत्र समिति अध्यक्ष ताम्रध्वज साहू की सदारत में संपन्न हुई है, जिसमें ताम्रध्वज ने स्वयं घोषणा पत्र के वादों की क्रियान्वति को सराहा है। सरकार की ओर से बताया गया है कि जन घोषणा पत्र के 501 वादों में से 321 की क्रियान्वति हो चुकी है जबकि 138 वादे प्रगति पर हैं।