पंचायतीराज संस्थाओं को कमजोर करना चाहती है गहलोत सरकार : सतीश पूनिया

जयपुर। राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनिया ने आरोप लगाते हुए कहा है कि राज्य सरकार पंचायती राज संस्थाओं को कमजोर करना चाहती है।

डा पूनिया ने आज यहां आयोजित पार्टी के जिलाध्यक्षों की बैठक में कहा कि पार्टी को इस विषय को लेकर सरकार पर दबाव बनाना चाहिए ताकि सरकार इन संस्थाओं को कमजोर न कर सके।

उन्होंने कहा कि सरकार ने पंचायतीराज चुनावों को लेकर भ्रम पैदा किया है। पहली बार ऐसा हुआ है कि सरपंचों के नामांकन तो किए, लेकिन चुनाव लंबित हो गए। इसे लेकर सभी दल के सरपंच आक्रोशित हैं।

बैठक में डाॅ. पूनिया ने कहा कि पश्चिमी राजस्थान में टिड्डी दलों के हमले से फसलों को काफी नुकसान हुआ है। करीब डेढ़ लाख हैक्टेयर क्षेत्र में टिड्डी फसलें चट कर गई हैं। उस पर नियंत्रण पर राज्य सरकार पूर्णतः विफल रही है।

उन्होंने कहा कि टिड्डियों से निजात पाने के लिये केन्द्र सरकार ने ब्रिटेन से 10 नई मशीने ली हैं। केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने अपने विभाग के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए हैं और किसानों को राहत दिलाने की दिशा में प्रयास किए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि केन्द्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी भी लगातार दौरे करके किसानों के लिए केन्द्र सरकार की ओर से अधिकत्तम सहायता दिलाने और इस त्रासदी से निजात दिलाने का प्रयास कर रहे हैं, जबकि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत प्रभावित क्षेत्रों के दौरे करके किसानों की जेब टटोलकर एवं गिरदावरी के आदेश करके वापस आ गए।