अगर वंचित वर्ग को आरक्षण चाहिए तो वंसुधरा को पद से हटाना होगा : तिवारी

bharat vahini party chief ghanshyam addressing meeting in jaipur
bharat vahini party chief ghanshyam addressing meeting in jaipur

जयपुर। भारत वाहिनी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष घनश्याम तिवाड़ी ने कहा कि सरकार ने प्रशानिक ढांचे को पूर्णतया: तहस नहस कर दिया है।जिस प्रकार हारते हुए और पीछे हटते हुए सेनाएं अपने ही पुल खुद ही उड़ा देती है, ठीक उसी प्रकार से सुनिश्चित पराजय को देख वसुधंरा सरकार ने प्रशासनिक ढांचे को पूरी तरह से बर्बाद कर दिया है।

तिवाड़ी वाहिनी के जालूपुरा स्थित संभाग कार्यालय पर जयपुर संभाग की मीटिंग में शनिवार को मुख्यवक्ता के रूप में संबोधित कर रहे थे। तिवाड़ी ने कहा कि जिस प्रकार से गुर्जर समाज की आंदोलन की धमकी से ही भरतपुर संभाग की गौरव यात्रा को स्थगित किया गया था, ठीक इसी प्रकार से ही ईबीसी आरक्षण के लिए भी ब्राह्मण, राजपूत, वैश्य और अन्य आरक्षण से वंचित समाजों को सरकार से सवाल पूछना चाहिए और इसके लिए आंदोलन करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि राजपूत, ब्राह्मण, वैश्य, कायस्थ के साथ ही आरक्षण से वंचित अन्य समाज के बच्चों के साथ वर्तमान सरकार ने धोखा किया है। उन्होंने कहा कि हम पिछले 4 साल से लगातार वंचित वर्ग के आरक्षण की लड़ाई लड़ रहे हैं, जिसे इस सरकार ने स्वीकृति के बावजूद महज इसलिए दबा रखा है क्योंकि इसे मैंने ही विधानसभा में पेश किया था। अगर वंचित वर्ग को आरक्षण चाहिए तो मुख्यमंत्री पद से वंसुधरा को हटाना और राजस्थान को बचाना होगा।

घनश्याम तिवाड़ी ने कहा कि राज्य सरकार ने स्थानान्तरण को अपना गृह उद्योग बना लिया है। उन्होंने बताया कि इतने ट्रांसफर जिसमें भ्रष्टाचार शामिल हो अब तक किसी राज्य में नहीं हुआ।

स्थानान्तरण में TA/DA नाम पर करोड़ों रूपए की बर्बादी के साथ कर्मचारियों को 10-10 दिन की छुट्टियां भी दी गई है। जिससे सरकारी कामकाज ठप होने के साथ ही सरकारी कोष पर भी भार पड़ा है। तिवाड़ी ने कहा कि पिछले कुछ समय से प्रदेश में सरकार और प्रशासन विहीन शासन चल रहा है।

वाहिनी के प्रदेशाध्यक्ष तिवाड़ी ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा राजस्थान गौरव यात्रा में सरकारी कोष से अनापशनाप खर्चा किया जा रहा है। यह सरकार का आर्थिक अपराध है, जो कि व्यवस्था का गलत उपयोग है।

उन्होंने कहा कि शिक्षकों को मिलने वाला सम्मान, यात्राओं में की जा रही घोषणाएं जो कि कोरी बेइमानी है और जयपुर में बढ़ती पेय जल समस्या जैसे विषयों को मुद्दा बनाकर प्रदेश हित में विधानसभा में उठाए जाएंगे।

उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि भारत वाहिनी पार्टी का अब संपूर्ण प्रदेश में गठन हो चुका है। वाहिनी आने वाले चुनावों में इन सभी 19 विधानसभा क्षेत्रों से चुनावी समर में उतरेगी। जिसके लिए वाहिनी के सभी कार्यकर्ताओं को अब जुट जाना चाहिए।

बैठक में संस्थापक अध्यक्ष अखिलेश तिवाड़ी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभुलाल कुमावत, प्रदेश संगठन मंत्री दयाराम महरिया, प्रदेश महामंत्री छोटूराम कुमावत, प्रदेश किसान वाहिनी अध्यक्ष किशनलाल यादव, उपाध्यक्ष शैतान सिंह, प्रदेश युवा वाहिनी अध्यक्ष सुधांशु जैन, जिला प्रभारी अवधेश पारीक, संभाग अध्यक्ष रामप्रसाद सोड, जयपुर शहर अध्यक्ष विमल अग्रवाल, देहात अध्यक्ष अशोक विजय समेत प्रदेश, जिले के पदाधिकारी मौजूद थे। बैठक का मंच संचालन दिलीप सिंह महरौली ने किया था।