राजस्थान में कांग्रेस के बागी उम्मीदवारों को जल्द मना लेंगे : गुलाम नबी आजाद

जयपुर। राजस्थान में बागी उम्मीदवारों को मनाने में जुटी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि अगले 24 घंटे में ज्यादातर असंतुष्ट नेताओं को मना लिया जाएगा।

आजाद ने बुधवार को यहां पार्टी मुख्यालय में कुछ बागी नेताओं से व्यक्तगित रूप से मिलने और कुछ के साथ टेलीफोन पर बात करने के बाद यह दावा किया। उन्होंने कहा कि इन उम्मीदवारों के साथ बातचीत हुई है और आगे अभी जारी रहेगी, उम्मीद है कि ज्यादातर नेताओं को राजी कर लिया जाएगा।

पार्टी ने राज्य में बागी नेताओं को मनाने की जिम्मेदारी राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद, केन्द्रीय चुनाव समिति प्रभारी महासचिव मुकुल वासनिक, महासचिव अविनाश पांडे और वरिष्ठ नेता विवेक बंसल को सौंपी है। इसके साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट से भी बागी उम्मीदवारों से संपर्क बनाने को कहा गया है।

आजाद ने वासनिक और बंसल के साथ यहां चार घंटे तक इस मुद्दे पर बातचीत कर रणनीति बनाई। इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट भी मौजूद थे। इन नेताओं ने बागी उम्मीदवार रामचंद्र सरधाना को बुलाकर उनसे बात की जबकि शाहपुरा से निर्दलीय पर्चा भरने वाले पार्टी नेता आलोक बेनीवाल और सुमेरपुर से नामांकन दाखिल करने वाले भूराराम से टेलीफोन पर बात की।

सूत्रों के अनुसार वरिष्ठ नेता अभी बागी उम्मीदवारों को यह कहकर मना रहे हैं कि यदि वे चुनाव मैदान से हट जाते हैं तो उन्हें राजनीतिक नियुक्ति दी जाएगी। छोटे जनाधार वाले नेता तो इन बातों को मान रहे हैं लेकिन बड़े जनाधार वाले नेता अभी पार्टी की इन बातों में नहीं आ रहे हैं।

कांग्रेस को विधानसभा चुनाव में लगभग 60 उम्मीदवारों की बगावत का सामना करना पड़ रहा है। इनमें चार पूर्व मंत्री और छह पूर्व विधायक शामिल हैं।