धोनी के विध्वंसक प्रदर्शन को देखते हुए उनकी जगह कोई नहीं ले सकता : रैना

धोनी के विध्वंसक प्रदर्शन को देखते हुए उनकी जगह कोई नहीं ले सकता- रैना
धोनी के विध्वंसक प्रदर्शन को देखते हुए उनकी जगह कोई नहीं ले सकता- रैना

नई दिल्ली। बाएं हाथ के धुरंधर बल्लेबाज़ सुरेश रैना ने बुधवार को कहा कि चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी आईपीएल-11 में इस समय जिस तरह का विध्वंसक प्रदर्शन कर रहे हैं उसे देखते हुए कोई उनकी जगह नहीं ले सकता।

चेन्नई सुपरकिंग्स के सदस्य और ट्वंटी 20 के महारथी बल्लेबाज़ रैना ने गुड़गांव में असिक्स की नई फुटवीयर रेंज लांच करने के बाद संवाददाताओं के साथ बातचीत में धोनी के करियर को लेकर पूछे जाने पर कहा कि धोनी इस समय कमाल का प्रदर्शन कर रहे हैं। मुझे नहीं लगता कि फिलहाल कोई धोनी की जगह ले सकता है। वह इतना अच्छा खेल रहे हैं कि जब तक चाहे तो खेल सकते हैं।

रैना ने साथ ही कहा कि धोनी मेरे पसंदीदा खिलाड़ी हैं और उनकी कप्तानी में चेन्नई की टीम एक बार फिर शानदार प्रदर्शन कर रही है और आईपीएल के प्लेऑफ में पहुंच चुकी है। टीम के प्रदर्शन का श्रेय कप्तान को जाता है जो अपने प्रदर्शन और कौशल से टीम का नेतृत्व कर रहे हैं।

बाएं हाथ के बल्लेबाज रैना आईपीएल में पहले आठ साल धोनी के साथ चेन्नई टीम में खेले थे लेकिन चेन्नई को दो साल निलंबित किए जाने के बाद रैना ने नई टीम गुजरात लांयस की कप्तानी की थी। आईपीएल के 11वें सत्र में चेन्नई की टीम वापस लौटी और उसके तीन पुराने खिलाड़ी धोनी, रैना तथा रवींद्र जडेजा रिटेन किए गए।

चेन्नई की टीम आईपीएल के प्लेऑफ में पहुंच चुकी है और रैना मानते हैं कि टीम का मनोबल इस समय काफी ऊंचा हो चुका है। उन्होंने कहा कि टीम के ड्रैसिंग रूम में शानदार माहौल है, हम अच्छा कर रहे हैं और उम्मीद है कि टीम मुंबई में फाइनल खेलेगी।

धोनी की इस टूर्नामेंट में नए अंदाज की बल्लेबाजी के बारे में पूछे जाने पर रैना ने कहा कि धोनी जिस तरह पहले बल्लेबाज़ी किया करते थे उसी तरह अब भी कर रहे हैं। अब तो वह ज्यादा खुल कर खेल रहे हैं। एक टीम के लिए वह समय अच्छा होता है जब उसका कप्तान ऐसा खेल रहा हो।

अपनी बल्लेबाजी के लिये आईपीएल के शीर्ष स्कोररों में से एक रैना ने कहा कि मैं अच्छा प्रदर्शन कर रहा हूं। चार पांच अर्धशतक भी बनाए हैं। मेरे लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण टीम का प्लेऑफ में पहुंचना था और यह लक्ष्य हम हासिल कर चुके हैं।

मैंने टूर्नामेंट में एकाध मैच चोट के कारण मिस किया लेकिन मेरी बल्लेबाजी अच्छी रही। मुझे अब भी लगता है कि मेरे बल्ले से एक बड़ा स्कोर बाकी है और यह प्लेऑफ में निकल सकता है।

रैना ने साथ ही कहा कि लोग मानते हैं कि आईपीएल काफी आसान होता है लेकिन यह उतना आसान नहीं है जितना सोचा जाता है। इसमें काफी योजना और रणनीति की जरूरत होती है। आपको लंबी यात्राएं करनी होती हैं। आपको कड़ी मेहनत करनी होती है और दिमाग को ताज़ा रखना होता है ताकि आप हर मैच में अच्छा प्रदर्शन कर सकें।

गुजरात की कप्तानी करने और चेन्नई में एक सदस्य के रूप में खेलने की तुलना पर उन्होंने कहा“ कप्तान के रूप में और एक खिलाड़ी के रूप में आपकी अलग अलग जिम्मेदारी होती है। गुजरात के साथ पहला सत्र अच्छा रहा था जबकि दूसरे सत्र में खिलाड़ियों की चोटों से परेशानी हुई।

चेन्नई की दो साल बाद आईपीएल में सफल वापसी पर रैना ने कहा कि हम अपनी टीम में पुराना कोर ग्रुप रखना चाहते थे। हमने टीम में धोनी, जडेजा, ब्रावो और खुद मुझे रखा जिससे टीम का संतुलन बना हुआ है। पुराने खिलाड़ियों को रखने से टीम का माहौल भी अच्छा है।

रैना ने टीम की आक्रामक बल्लेबाज़ी का श्रेय बल्लेबाजी कोच माइकल हसी को देते हुए कहा कि वह पहले हमारे साथ खेले थे और अब टीम के बल्लेबाज़ी कोच हैं। हसी के रहने से टीम के बल्लेबाज़ों को काफी फायदा मिल रहा है और हमारे अच्छे प्रदर्शन का एक बड़ा कारण यही है।

उत्तर प्रदेश के रैना ने मौजूदा समय के युवा भारतीय खिलाड़ियों में विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत को अपना पसंदीदा खिलाड़ी बताया। रैना का मानना है कि पंत ने इस आईपीएल में जैसा प्रदर्शन किया है उससे उनका भविष्य अच्छा दिखाई देता है।