सोना 1200 रुपए टूटा, चांदी 2050 रुपए फीकी पड़ी

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय बाजार में दोनों कीमती धातुओं में गिरावट और घरेलू स्तर पर डॉलर की तुलना में भारतीय मुद्रा में रही मजबूती के कारण बीते सप्ताह दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 1200 रुपये टूटकर 38370 रुपए प्रति दस ग्राम पर रहा और चांदी 2050 रुपए फीकी पड़कर 46450 रुपए प्रति किलोग्राम पर आ गई।

लंदन एवं न्यूयॉर्क से मिली जानकारी के अनुसार विदेशों में सोना हाजिर समीक्षाधीन अवधि में करीब 19 डॉलर की गिरावट के साथ 1,488.45 डॉलर प्रति औंस पर रहा। दिसंबर का अमरीकी सोना वायदा भी करीब 20 डॉलर टूटकर सप्ताहांत पर 1,486.90 डॉलर प्रति औंस बोला गया।

बाजार विश्लेषकों ने बताया कि अमरीका तथा चीन के बीच व्यापार युद्ध को लेकर बातचीत पर दोनों पक्षों के सहमत होने से निवेशक पूंजीबाजार की ओर रुख कर रहे हैं। इससे सोने की मांग घटी है और कीमतों में गिरावट देखी गई। इसके साथ ही घरेलू स्तर पर पिछले सात दिनों में डाॅलर की तुलना में रुपया 147 पैसे की मजबूती ले चुका जिससे कीमती धातुओं पर दबाव बना है। आलोच्य सप्ताह के दौरान चांदी हाजिर 0.65 डॉलर गिरकर 17.42 डॉलर प्रति औंस पर आ गई।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रही गिरावट और घरेलू स्तर पर रुपए की मजबूती से सप्ताहांत पर सोना स्टैंडर्ड और सोना बिटुर 1200-1200 रुपए प्रति दस ग्राम टूट गया। सप्ताहांत पर सोना स्टैंडर्ड 38,370 रुपए प्रति दस ग्राम और सोना बिटुर 38,200 रुपए प्रति दस ग्राम पर रहा। इस दौरान आठ ग्राम वाली गिन्नी 500 रुपए उतरकर 30,000 रुपए प्रति आठ ग्राम बोली गई।

आलोच्य सप्ताह में चांदी हाजिर 2050 रुपए की गिरावट लेकर 46,450 रुपए प्रति किलोग्राम पर रह गयी। चांदी वायदा 2,125 रुपए उतरकर सप्ताहांत पर 45,760 रुपए प्रति किलोग्राम बोली गई। इस दौरान सिक्का लिवाली और बिकवाली 80-80 रुपए उतरकर क्रमश: 960 रुपए और 970 रुपए प्रति सैकड़ा बोला गया।

कारोबारियों का कहना है कि कीमती धातुओं में आई नरमी से त्योहारी सीजन के मद्देनजर थोक में मांग आने की उम्मीद बनी है। घरेलू बाजार में कीमती धातुओं की कीमतें मुख्यत: वैश्विक कारकों से तय होती है।