दिल्ली के विधायकों के वेतन में 66.67 प्रतिशत की वृद्धि, विधेयक पारित

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा ने सोमवार को विधायकों के वेतन में 66.67 प्रतिशत की वृद्धि करने संबंधी विधेयक पारित कर दिया।

इस विधेयक में विधायकों का वेतन 90,000 रुपए करने का प्रावधान है। इस तरह से विधायकों के मौजूदा वेतन में 36 हजार रुपए प्रति माह की वृद्धि होगी। विधानसभा सचिवालय के अनुसार सदस्यों को वर्तमान में 54,000 रुपए का वेतन मिलता है। सदन से पारित होने के बाद विधेयक अब राष्ट्रपति से अनुमोदन के लिए भेजा जाएगा।

दिल्ली के विधि, न्याय एवं विधायी मामलों के मंत्री कैलाश गहलोत ने सोमवार को विधानसभा में यह विधेयक पेश किया। उन्होंने मंत्रियों, अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, विपक्ष के नेता, मुख्य सचेतक और विधानसभा के सदस्यों के वेतन और भत्ते बढ़ाने के लिए पांच वेतन और भत्ते संशोधन विधेयक पेश किए।

इस विधेयक को मंजूरी मिल जाने के बाद कैबिनेट मंत्रियों और सदन के सदस्यों की सकल मासिक आय (विभिन्न भत्तों सहित) को मौजूदा 72,000 रुपए से बढ़कर 1,70,000 रुपए हो जाएगा।

केंद्र सरकार द्वारा मई में इन विधेयकों को मंजूरी दी गई थी। इसके बाद उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना ने पिछले सप्ताह सदन में पेश करने के लिए वेतन संशोधन प्रस्ताव को मंजूरी दी थी।

अब, विधानसभा सचिवालय इस विधेयक को दिल्ली सरकार के विधि , न्याय एवं विधायी मामलों के विभाग को भेजेगा, जहां से इसे एलजी के कार्यालय में भेजा जाएगा। इसके बाद इसे केंद्रीय गृह मंत्रालय के माध्यम से राष्ट्रपति के पास मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। सदन के सदस्यों के मुताबिक यह बढ़ोतरी 10 साल के अंतराल के बाद की गई है।