महिला डॉक्टर आनंदी गोपाल जोशी का गूगल ने बनाया डूडल

google-doodle-made-by woman doctor Anandi Gopal Joshi
google-doodle-made-by woman doctor Anandi Gopal Joshi

नयी दिल्ली। हमारे देश में कुछ ऐसी सख्सियत भी हुई जिन्होने मरने से पहले और मरने के बाद हमारे देश का नाम रोशन किया। उन मे से एक हे। पहली महिला डॉक्टर आनंदी गोपाल जोशी। आज हमे यह जान कर गर्व हो रहा हे की दुनिया के सब से बड़े सर्च इंजन गूगल ने भारत की पहली महिला डॉक्टर आनंदी गोपाल जोशी का डूडल बनाया है।

सर्च इंजन गूगल ने देश की पहली महिला डॉक्टर आनंदी गोपाल जोशी पर डूडल बनाकर उनके प्रति सम्मान व्यक्त किया है।

आनंदी जोशी का जन्म 31 मार्च 1865 को महाराष्ट्र के ठाणे जिले के यमुना में हुआ था। नौ साल की उम्र में ही उनका विवाह श्री गोपाल राव जोशी से हुआ था। मात्र 14 साल की उम्र में इलाज के अभाव में अपने 10 दिन के बच्चे की मौत के बाद उन्होंने डॉक्टर बनने की ठानी थी और 21 साल की उम्र में वर्ष 1886 में अमेरिका के पेनसिल्वेनिया स्थित वीमिन्स मेडिकल कॉलेज ऑफ पेनसिल्वेनिया (अब ड्रेक्सेल यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ मेडिसिन) से डॉक्टरी की पढ़ाई पूरी की लेकिन अगले ही साल तपेदिक से उनकी मौत हो गयी। जब उन्होंने अपनी डिग्री पूरी की तो ब्रिटेन की तत्कालीन महारानी विक्टोरिया ने उन्हें बधाई संदेश भेजा था।

पढ़ाई पूरी करने के बाद 1886 में आनंदी जोशी भारत लौट आईं । उन्हें कोल्हापुर के स्थानीय एलबर्ट एडवर्ड अस्पताल के महिला वार्ड का प्रभारी नियुक्त किया।

आनंदी जोशी के पति जो उम्र में उनसे कई साल बड़े थे, पत्नी की आरंभिक शिक्षा में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई तथा उन्हें लिखना और पढ़ना सिखाया। अमेरिका जाने से पहले वह कुछ समय कोलकाता में भी रही थीं।
गूगल के लिए बेंगलुरु की कश्मीरा सरोदा ने डूडल बनाया है। इसमें आनंदी जोशी डिग्री लेती हुई दिख रही हैं और उनकी हरे रंग की साड़ी लहरा रही है। शुक्र ग्रह पर एक खाई का नामकरण भी उनके नाम पर किया गया है।