गूगल ने तेज पर बिल पेमेंट फीचर पेश किया

Google introduced bill payment feature on fast
Google introduced bill payment feature on fast

सबगुरु न्यूज़, जयपुर|  80से ज्यादा बिल प्रोवाइडर्स गूगल के डिजिटल पेमेंट ऐप पर हैंजिसमें राजस्थान के प्रमुख इलेक्ट्रिसिटी सप्लायरराजस्थान विद्युत वितरण निगम लिमिटेड शामिल हैं। डिजिटल पेमेंट ऐप तेज में नए-नए फीचर जोड़ना जारी रखते हुए गूगल इंडिया ने विशेष रूप से डिजाइन किए गए ऐप की लॉन्चिंग की घोषणा कीजिससे यूजर्स सिर्फ उंगलियों की मदद से मोबाइल पर कुछ खास ऑप्शन को क्लिक कर बिना किसी ट्रांसजेक्शन चार्ज के अपना बिल मिनटों में नहींसेकंड में भर सकेंगे। यह ऐप 80 से ज्यादा जगहों के बिल भरने की सुविधा के साथ शुरू किया गया हैजिसमें नेशनल और स्टेट इलेक्ट्रिसिटी प्रोवाइडर्सगैसपानीडीटीएचमोबाइल पोस्टपेड बिल और रिचार्ज शामिल है। नए बिल पेमेंट फीचर में राजस्थान की सभी सार्वजनिक जनसुविधाओं के बिल भरने में सुविधा मिलेगीजिसमें राजस्थान विद्युत वितरण निगम लिमिटेड शामिल है। इसके अलावा इस ऐप में राष्ट्रीय स्तर की कंपनियों जैसे रिलायंस एनर्जीबीएसईएस और डिश टीवी के बिल को भरने की सुविधा मिलेगी। कुल मिलाकर इस ऐप से सभी राज्यों और भारत के प्रमुख मेट्रो शहरों को कवर किया गया है।

 हर महीने बिल के आते ही बिलों के पेमेंट के लिए तेज अपने यूजर्स को समय पर नोटिफिकेशन भेजेगा। इससे यूजर्स तेज की होम स्क्रीन पर बिल भरने वाले के नाम को केवल टैप कर यह देख सकेंगे कि उन्होंने बिल भर दिया है या नहीं। यूजर्स अपने पिछले बिलों के पेमेंट को भी देख पाएंगे और अलग-अलग अकाउंट से अपने बिल को भरना मैनेज कर सकेंगे। इस ऐप को कई सार्वजनिक सुविधाओं के बिल भरने हेतु भारत बिल पे सिस्टम के सपोर्ट के लिए निर्मित किया गया। नया बिल आते ही तेज ऐप से यूजर्स को अलर्ट मिलता है।

 नए बिल पेमेंट फीचर की लॉन्चिंग के बारे में नेक्सट बिलियन यूजर्स में पेमेंट और कॉमर्स विभाग की वीपी डायना लेफील्ड ने कहा, “हम तेज नामक ऐप से यूजर्स को अतिरिक्त नई सुविधा देकर काफी प्रसन्न हैं। आज हम बिलों के पेमेंट के लिए एक स्पेशल तरीके से डिजाइन किया गया फीचर इसमें जोड़ रहे हैं। इस ऐप से उपभोक्ताओं को अपने अलग-अलग बिलों को भरने की सुविधा मिलेगीजिसमें बिजलीपानीडीटीएच ओर इश्योरेंस प्रीमियम का भुगतान शामिल है। हमें उम्मीद है कि हमारे यूजर्स को यह सरलता पसंद आएगी। इससे उनका समय बचेगा। इसके साथ ही यूजर्स को तेज पर बिल भरने का नया अनुभव मिलेगा।

बिल पेमेंट फीचर कैसे काम करता है

उपभोक्ता अपने शहर और क्षेत्र का बिल प्रदान करने वाली विभिन्न संस्थाओं को देख सकेंगे। यूजर्स उनका नाम डालकर भी सर्च कर पाएंगे। एक बार बिल प्रदान करने वाले की खोज करने के बाद यूजर्स को तेज से लिंक करने के लिए अपने अकाउंट से जुड़ा नंबर भरने की जरूरत होगी। वह याद रखने के लिए इसे कोई आसान नाम दे सकते हैं।

यूजर्स ऐप को अपने अकाउंट से लिंक करेंगे। इसके बाद कई सार्वजनिक सुविधाओं के लिए तेज अपने आप ही नए बिलों की खोज कर लेगा। यूजर्स को सिर्फ ऐप पर जाकर न्यू पेमेंट और पे योर बिल्स पर टैप करना होगा। इस महीने हर नए बिलर को बिलों की पेमेंट करने से यूजर्स को 1 हजार रुपये का स्क्रैच कार्ड भी मिलेगा।

80 से ज्यादा बिलर की लिस्ट ऑनलाइन मौजूद

भारत सरकार के यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) के आधार पर निर्मित तेज डिजिटल पेमेंट्स के लिए साधारण और सुरक्षित मोबाइल ऐप है। इसका मकसद डिजिटल पेमेंट को कैश की तरह आसान बनाना है।

 तेज ऐप के प्रमुख फीचर्स

  1. ऑन द स्पॉट सिंपल ट्रांसजेक्शनरू तेज का कैश मोड केवल कुछ टैप से सुरक्षित ढंग से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को पैसे भेज सकेगा। एक ही समय पर कैश मोड को दबाकर और होल्ड कर तेज का इस्तेमाल कर रहे2व्यक्ति केवल कुछ सेकंड्स में सुरक्षित लेन-देन कर सकेंगे। इसमें उन्हें अपने प्राइवेट डिटेल जैसे फोन नंबर और बैंक अकाउंट नंबर को शेयर करने की जरूरत नहीं रहेगी। यह गूगल प्रॉपराइटरी ऑडियो क्यूआर (एक्यूआर) अल्ट्रासाउंड टेक्नोलॉजी के प्रयोग से संभव हो पाया है। सबसे अच्छी बात यह है कि इसमें पैसा प्राप्त करने वाले व्यक्ति की धनराशि तुरंत ही उसके अकाउंट में जमा हो जाएगी।
  2. किसी को भी भुगतान कीजिएरू अब पेमेंट करना बातचीत करने जितना आसान हो गया है। तेज यूजर्स की प्राइवेसी सेटिंग के अनुसार उनके फोन में से उनकी कॉन्टेक्ट लिस्ट का प्रयोग करता है। इस तरह से यूजर केवल अपने दोस्त का नाम या मोबाइल नंबर तलाश कर लेन-देन शुरू कर सकते हैं। इसमें यूजर को को न तो उन्हे लाभार्थी के तौर पर जोडना पड़ेगा और न ही अपना बैंक अकाउंट नंबर या आईएफएससी कोड डालने की जरूरत पड़ेगी।
  3. बैंक अकाउंटक्यूआर कोड या यूपीआई आईडी के माध्यम से भुगतान करेंरू अगर दूसरा व्यक्ति तेज पर या यूजर की कॉन्टेक्ट लिस्ट में नहीं है तो भी यूजर उन्हें बैक अकाउंट नंबर या यूपीआई आईडी से भुगतान कर सकेंगे। हरेक व्यक्ति के साथ लेन-देन के इतिहास को बातचीत की तरह एक साथ ग्रुप किया जा सकेगा। यह उसी तरह होगाजैसे जी मेल के ग्रुप्स आपस में ई-मेल करते हैं। इससे लंबी-चौड़ी स्टेटमेंट पर नजर डालने की अपेक्षा किसी खास ट्रांसजेक्शन को खोजना काफी आसान हो जाएगा।
  4. ऑनलाइन या ऑफलाइन भुगतान कीजिएरू तेज को उन सभी व्यवसाय ने स्वीकार किया हैजो यूपीआई को स्वीकार करते हैंचाहे आप अपनी नुक्कड़ की दुकान से शापिंग कर रहे हैं या ऑनलाइन कुछ सामान खरीद रहे हैं।
  5. बैंक अकाउंट से एकीकृत होनारू तेज कोई डिजिटल वॉलेट नहीं हैजिसमें आपको टॉपअप कराने की जरूरत पड़े। इसकी जगह तेज50 से ज्यादा यूपीआई से लैस बैंकों के साथ काम करता हैजिससे पैसा तब तक यूजर के बैंक में ही रहता हैजब तक उन्हें इसका इस्तेमाल करने की जरूरत नहीं पड़ती। तेज के यूजर्स बैंकों से ब्याज भी अर्जित कर सकते हैं। उनकी जमा राशि पर बैंक की ओर से बैंक सिक्युरिटी गारंटी भी मिलती है। इस समय तेज पर ट्रांसजेक्शन करने का कोई चार्ज नहीं लगता।
  6. मल्टीपल सिक्युरिटी लेयररू तेज को मल्टीपल सिक्युरिटी लेवल से समर्थन प्राप्त है। इसमें इंडियन बैंकोंएनपीसीआई और तेज शील्ड की ओर से ऑफर किया गया समर्पित सिक्युरिटी सिस्टम भी शामिल है। गूगल ऐप में सुरक्षा के लिए कई फीचर जोड़े गए हैंजिसमें मशीन लर्निंग बेस्ड फ्रॉड डिटेक्शन इंजन,डिवाइस लेवल पर सुरक्षा के साथ गूगल पिन को भी शामिल किया गया है। कैश मोड से भुगतान के दौरान यह ऐप यूजर का न तो मोबइल नंबर शेयर करता है और न ही बंक अकाउंट नंबर शेयर करता है। कस्टमर सर्विस24 घंटे सातों दिन उपलब्ध है।
  7. इसे सबसे पहले भारत के लिए बनाया गया हैरू तेज नाम का ऐप हिंदी और इंग्लिश में एंड्रॉयड और आईओएस के अधिकांश स्मार्टफोन पर डाउनलोड किया जा सकता है। एंड्रॉयड वर्जन अतिरिक्त भारतीय भाषाओंजैसे बांग्ला,तमिलतेलुगुकन्नड़और गुजराती में उपलब्ध है।

गूगल के बारे में

गूगल का मिशन दुनिया की जानकारी को एकत्रित और संगठित कर सार्वजनिक रूप से सबके लिए सुलझ और उपयोगी बनाना है। सर्चमैपजी-मेलएंड्रॉयडगूगल प्लेक्रोम और यू ट्यूब पर प्रॉडक्ट्स और प्लेटफॉर्म के माध्यम से गूगल यूजर को यह जानकारी उपलब्ध कराता है। अरबों लोगों की रोजमर्रा की जिंदगी में गूगल एक सार्थक भूमिका निभा रहा है। गूगल अब दुनिया में सबसे ज्यादा जानी-पहचानी जाने वाली कंपनियों मे से एक हो गया है। गूगल अल्फाबेट इंक की सहायक कंपनी भी है।           

गैजेट्स से जुडी और अधिक खबरों के लिए यहां क्लिक करें

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए, और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE और वीडियो के लिए विजिट करे हमारा चैनल और सब्सक्राइब भी करे सबगुरु न्यूज़ वीडियो