सरकार पारम्परिक शिल्प एवं लघु उद्यमों के संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध : योगी

सरकार पारम्परिक शिल्प एवं लघु उद्यमों के संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध : योगी
सरकार पारम्परिक शिल्प एवं लघु उद्यमों के संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध : योगी

मुरादाबाद । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार पारम्परिक शिल्प एवं लघु उद्यमों के संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध है। योगी रविवार देर शाम यहां सर्किट हाउस सभागार में ‘वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट’ (ओडीओपी) योजना की समीक्षा बैठक को सम्बोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने पारम्परिक शिल्प एवं लघु उद्यमों के संरक्षण तथा उसमें अधिक से अधिक व्यक्तियों कोे रोजगार प्रदान करने के साथ-साथ उनकी आय में वृद्धि के लिए ‘एक जनपद, एक उत्पाद’ योजना की शुरुआत गत 24 जनवरी को उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस के अवसर पर की गयी थी।

उन्होंने कहा कि पीतल नगरी मुरादाबाद मेटल हैण्डीक्राफ्टस के लिए विश्व में प्रसिद्ध है। राज्य सरकार परम्परागत उत्पादों के निर्यात, प्रोत्साहन सहित स्थानीय उद्यमों में निवेश प्रोत्साहन के लिए भी निरन्तर प्रयत्नशील है और इसके लिए सिंगल विण्डो सिस्टम की शुरुआत के लिए ‘निवेशमित्र पोर्टल’ प्रारम्भ किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के विभिन्न जिलों के विशिष्ट उत्पादों की राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर ब्राण्डिंग के प्राथमिक उद्देश्य के साथ-साथ रोजगार सृजन, उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार, अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की प्रतिस्पर्धी सामर्थ्य के विकास, तकनीकि उन्नयन, कारीगरों एवं हस्तशिल्पियों के कौशल विकास तथा ग्रामीण सूक्ष्म एवं लघु उद्योगों तथा हस्तशिल्पी इकाइयों के उपयोगार्थ काॅमन फैसिलिटी सेन्टर, टेस्टिंग लैब, डिजाइन स्टूडियों, एग्जीबिशन कम व्यापार केन्द्रों जैसी महत्वपूर्ण अवस्थापना सुविधाओं के विकास एवं इन सब के माध्यम से प्रदेश के विकास के लिए ओडीओपी योजना क्रियान्वित की जा रही है।