अमरीका : अल्पकालिक व्यय विधेयक सीनेट में नामंजूर, सरकार ठप

Government stalled in America

Government stalled in America

वाशिंगटन। सीनेट में डेमोक्रेट सांसदों ने अल्पकालिक व्यय विधेयक पारित नहीं होने दिया, जिसके कारण अमरीका में चार साल से ज्यादा समय बाद पहली बार सरकार का कामकाज शनिवार को ठप होना शुरू हो गया है। इस संकट के कारण हजारों कर्मचारियों को अवैतनिक छुट्टी पर जाना पड़ेगा।

समाचार पत्र न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक सरकार के सामने यह संकट ऐसे समय में आ खड़ा हुआ है, जब राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप राष्ट्रपति के रूप में अपना पहला साल पूरा कर रहे हैं। यह बंदी पक्षपातपूर्ण असहमति के एक नए दौर की वजह बना है और दोनों पक्षों के लिए जोखिम पैदा करता है।

अमरीका के इतिहास में यह पहली ऐसी आधुनिक सरकार है, जिसकी पार्टी का कांग्रेस के दोनों सदनों और व्हाइट हाउस पर नियंत्रण है, लेकिन इसके बावजूद उसे इस संकट का सामना करना पड़ा है। यह परिणाम व्हाइट हाउस में ट्रंप और सीनेट में अल्पमत के नेता चक शूमर के बीच आखिरी मिनट के दौरान बातचीत बेनतीजा रहने के बाद सामने आया है।

व्हाइट हाउस ने हालांकि इस बंदी के लिए फौरन ही डेमोक्रेट सांसदों को जिम्मेदार ठहरा डाला।व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने शुक्रवार को कहा कि आज रात उन लोगों ने हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा, सैन्य परिवारों, मासूम बच्चों और सभी अमरीकी लोगों की सेवा करने की हमारे देश की क्षमता पर राजनीति को ऊपर रख दिया।

डेमोक्रेट युवा आप्रवासियों के लिए बजट समझौते की मांग कर रहे हैं। लेकिन रिपब्लिकन ने विधेयक में ‘ड्रीमर्स’ के संरक्षण को लेकर कोई संकेत नहीं दिए हैं। इन युवा आप्रवासियों को ‘ड्रीमर्स’ के रूप में जाना जाता है।

सैंडर्स ने कहा कि जब डेमोक्रेट ने अपनी बेकार की मांगों को लेकर हमारे वैध नागरिकों को बंधक बना डाला है, तो ऐसे में हम अवैध आप्रवासियों की स्थिति पर कोई बातचीत नहीं करेंगे।

शूमर द्वारा समर्थन नहीं दिए जाने से खफा ट्रंप और उनके प्रतिनिधियों ने इस घटना को ‘शूमर शटडाउन’ कहा, लेकिन न्यूयॉर्क के डेमोक्रेट नेताओं ने इसे ‘द ट्रंप शटडाउन’ करार दिया।

शूमर ने कहा कि यह लगभग ऐसा है जैसे आप एक बंदी के पक्ष में थे। और अब हमारे सामने एक बंदी होगी और इसकी पूरी जिम्मेदारी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कंधों पर डाली जानी चाहिए।

अंतिम क्षण में भी इस मुद्दे पर दोनों दलों ने बैठक की, लेकिन 16 फरवरी तक के लिए सरकार को धन मुहैया कराने वाले विधेयक के लिए आवश्यक 60 मत नहीं मिल सके। रिपब्लिकन के पास सिर्फ 51 सीटें हैं। इसलिए उन्हें डेमोक्रेट नेताओं के वोट की जरूरत थी, लेकिन आवश्यक आंकड़ा पूरा नहीं हो पाया।

बजट प्रस्ताव शुक्रवार रात रिपब्लिकन ने पेश किया और इसके पक्ष में 50 मत पड़े, जबकि विरोध में 48 मत पड़े। लेकिन ये मत निधि को मंजूरी देने के लिए अपर्याप्त थे। चार रिपब्लिकन नेताओं ने विधेयक के खिलाफ मतदान किया, जबकि पांच डेमोक्रेट सदस्यों ने इसका समर्थन किया।

इससे पहले गुरुवार रात प्रतिनिधि सभा के सदस्यों ने फरवरी तक के सरकारी खर्च के लिए विधेयक को 197 के मुकाबले 230 मतों से पारित कर दिया था।

अधिकारियों ने कहा कि अब एक लाख से ज्यादा सक्रिय सैन्यकर्मी अपनी सेवाएं जारी रखेंगे, लेकिन बंदी समाप्त होने तक उन्हें भुगतान नहीं किया जा सकता। व्हाइट हाउस के एक अधिकारी ने कहा कि ट्रंप ने इस संकट के कारण अपनी रिजॉर्ट यात्रा की योजना रद्द कर दी है।

ट्रंप ने शनिवार को ट्विटर पर लिखा कि वे हमारी महान सेना या अत्यंत खतरनाक दक्षिणी सीमा की सुरक्षा के लिए अच्छा नहीं सोच रहे। डेमोक्रेट कर कटौती की बड़ी सफलता को बेकार करने में मदद के लिए यह बंदी चाहते हैं।

इस तरह की पिछली बंदी 2013 में बराक ओबामा प्रशासन के दौरान हुई थी, जो 16 दिनों तक चली थी। तमाम संघीय कर्मचारियों को छुट्टी पर जाना पड़ा था।

विश्व से जुडी और अधिक खबरों के लिए यहां क्लिक करें

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए, और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE और वीडियो के लिए विजिट करे हमारा चैनल और सब्सक्राइब भी करे सबगुरु न्यूज़ वीडियो