जम्मू-कश्मीर में ईद के लिए सरकार ने किए विशेष इंतजाम

नई दिल्ली। सरकार और भारतीय जनता पार्टी ने कहा है कि पश्चिमी मीडिया में आ रही रिपोर्टों के विपरीत जम्मू-कश्मीर में स्थिति सामान्य है और लोगों के बिना किसी परेशानी के ईद मनाने के लिए व्यापक तथा विशेष इंतजाम किए गए हैं।

एक सूत्र ने आज कहा कि जम्मू-कश्मीर सरकार ने जरूरी वस्तुओं का पर्याप्त भंडार किया हुआ है जिसमें 65 दिन के लिए गेंहू, 55 दिन के लिए चावल और 17 दिन के लिए मटन जैसी चीजें शामिल हैं। मिट्टी के तेल और डीजल का भंडार भी 35 दिन के लिए है।

सरकार ने कहा है कि हर जिले में आम लोगों को राशन की आपूर्ति के लिए राशन घाट काम कर रहे हैं। कश्मीर डिविजन के 3697 राशन घाटों में से 3557 लोगों को राशन दे रहे हैं। सऊदी अरब से हाजियों के लौटने के लिए भी विशेष इंतजाम किए गए हैं।

इसके लिए 18 अगस्त से उडान शुरू हो जाएंगी। सभी उपायुक्तों ने अपने नोडल अधिकारियों को हवाई अड्डे पर रहने को कहा है। विशेष हेल्पलाइन डेस्क भी बनाए जाएंगे। इस दौरान बैंक छुट्टी में भी काम करेंगे। एटीएम में भी नियमित तौर पर पर्याप्त पैसा डाला जा रहा है।

कर्मचारियों का वेतन और दिहाड़ी मजदूरों की दिहाड़ी तथा सेवानिवृत कर्मचारियों की पेंशन भी दी जा रही है। मोबाइल वेन के जरिये सब्जी, गैस सिलेंडर और अंडे जैसी चीजें पहुंचाई जा रही है। ईद की धार्मिक परंपराओं के लिए भी विशेष इंतजाम किए गए हैं।

सभी स्वास्थ्य केन्द्रों में डाक्टर तथा अर्द्धचिकित्स तैनात हैं। राजधानी दिल्ली और अलीगढ में स्थानीक आयुक्त के माध्यम से लायजन अधिकारी छात्रों को अपने परिवारों से मदद साधने में मदद कर रहे हैं।

सरकार और भाजपा ने कहा है कि जम्मू कश्मीर में स्थिति ‘शांत’ है और लोगों को फायरिंग के बारे में भड़काने वाली खबरों पर ध्यान नहीं देना चाहिए। उन्होंने कहा कि स्थिति शांत है और लोग सहयोग कर रहे हैं तथा पाबंदियों में ढील दी जा रही है। सूत्रों ने कहा है कि पिछले छह दिनों में फायरिंग की कोई घटना नहीं हुई है।