RAS भर्ती 2018 के परिणामों मे उछाले जा रहे आरोपों को डोटासरा ने किया खारिज


अजमेर।
राजस्थान प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष एवं राज्य के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने आरएएस भर्ती 2018 के परिणामों में उन पर उछाले जा रहे आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि ये वो लोग कर रहे है जिन्हें दलित, गरीब, किसान की मेहनत से उन्हें आगे बढ़ता हुए देखने में तकलीफ हो रही है।

डोटासरा ने कहा कि राजस्थान लोकसेवा आयोग की अपनी कार्य पद्धति है। यदि आयोग के पास संबंधित खोई लिखित शिकायत आएगी तो वह अवश्य कार्यवाही करेगी। उन्होंने पत्रकारों के सवाल के जवाब में कहा कि परीक्षा के परिणाम अभ्यर्थी की मेहनत के परिणाम होते हैं।

इससे पहले अजमेर में बोर्ड के परीक्षा परिणाम जारी करने पहुंचे डोटसरा को कड़ी पुलिस सुरक्षा के बीच बोर्ड परिसर लाया गया क्योंकि यहां भारतीय जनता युवा मोर्चा अजमेर इकाई ने उन्हें काले झंडे दिखाने की पूरी तैयारी कर रखी थी। डोटसरा जितनी देर बोर्ड में रहे युवा मोर्चा के कार्यकर्ता बाहर हंगामा करते रहे और काले झंडों का प्रदर्शन करते रहे। कार्यकर्ताओं के उत्तेजित रुख को देखते हुए बोर्ड को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया।

अतिरिक्त जिलाधीश (शहर) गजेंद्र सिंह राठौड़ भी किसी अनहोनी की आशंका के चलते वहीं डटे रहे और अधिकारियों ने सूझबूझ से मंत्री और उत्तेजित कार्यकर्ताओं का आमना सामना न हो इसके लिए उन्हें बोर्ड कार्यालय के पिछले दरवाजे के जरिए जयपुर रवाना कर दिया।

अजमेर भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष राहुल जयसवाल ने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि यह करप्ट कांग्रेस पार्टी है। आरएएस भर्ती परीक्षा में जबरदस्त धांधली हुई है। शिक्षा मंत्री डोटसरा के रिश्तेदारों को भर्ती का फायदा दिया गया है और आज हम जब प्रदर्शन के साथ उन्हें ज्ञापन देने आए हैं तो वे सामना करने को तैयार नहीं।