भारतीय पर्यटकों को पाक का साथ देने वाले तुर्की देश ना जाने की सलाह

नई दिल्ली। भारत ने अपने नागरिकों को परामर्श जारी करके तुर्की एवं आसपास के हालात पर चिंताजनक बताते हुए वहां की यात्रा से बचने और अत्यधिक सावधानी बरतने की सलाह दी है।

तुर्की में भारत के दूतावास ने अंकारा में जारी एक परामर्श में कहा कि तुर्की के आस-पास के हालात चिंताजनक हैं। वैसे तो तुर्की में किसी भारतीय को अभी तक कोई नुकसान नहीं पहुंचा है, लेकिन वहां की यात्रा पर जाने वालों को बेहद सावधानी बरतने की जरूरत है।

संयुक्त राष्ट्र में जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान के सुर में सुर मिलाने और वित्तीय कार्रवाई कार्यबल की बैठक में आतंकवाद के वित्त पाेषण के मुद्दे पर पाकिस्तान का साथ देने वाले तुर्की को इस प्रकार से भारत ने एक कूटनीतिक संदेश दिया है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का भी सऊदी अरब की यात्रा के साथ ही तुर्की जाने का भी कार्यक्रम बन रहा था लेकिन सूत्रों के अनुसार वह कार्यक्रम भी रद्द कर दिया गया है। ऐसी भी खबरें हैं कि भारत तुर्की को दिए गए दो युद्धपोत बनाने के दो अरब डॉलर के ठेके को भी रद्द कर सकता है।

तुर्की की अर्थव्यवस्था में पर्यटन अहम स्थान रखता है। वहां जाने वाले भारतीय पर्यटकों की संख्या लगातार बढ़ रही है। जनवरी से जुलाई, 2019 के दौरान 1.30 लाख भारतीयों ने तुर्की की यात्रा की थी, जो पिछले वर्ष के पहले सात महीनों के मुकाबले 56 फीसद ज्यादा था। वर्ष 2017 के मुकाबले तुर्की जाने वाले पर्यटकों की संख्या छह गुना बढ़ चुकी है।

तुर्की स्थित भारतीय दूतावास के मुताबिक तुर्की में भारतीय नागरिकों को लेकर अब तक किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है। इसके बावजूद तुर्की की यात्रा करने वाले भारतीयों को अत्यंत सतर्कता बरतने की सलाह दी गई है।

दूतावास ने कहा कि तुर्की की यात्रा पर आने वाले जिन भारतीयों को सहायता की आवश्यकता है, उन्हें अंकारा स्थित दूतावास से 903124408529 और 903124382195 नंबर पर संपर्क करने को कहा गया है।