भड़काऊ संदेशों के तीव्र प्रसार पर व्हाट्सऐप काे सरकार की चेतावनी

Govt warns WhatsApp over spread of messages triggering violence

नई दिल्ली। देश के विभिन्न राज्यों में हाल ही में भीड़ द्वारा हत्याएं होने में सोशल मीडिया प्लेटफार्म व्हाट्सऐप का उपयोग किए जाने के मद्देनजर सरकार ने आज उसको चेतावनी देते हुए कहा है कि इस तरह की गतिविधियों को रोकने के लिए तत्काल कार्रवाई की जाए और यह सुनिश्चित की जाए कि अफवाह वाली गतिविधियों में उसके प्लेटफार्म का उपयोग नहीं हो।

महाराष्ट्र में भीड़ द्वारा हाल में पांच लोगों की हत्या किए जाने के बाद सरकार ने व्हाट्सऐप को यह चेतावनी दी है। उसने कहा कि निर्दोष लोगों की हत्या की गई है क्योंकि अफवाह और भड़काऊ संदेश व्हाट्सऐप बड़ी तेजी से फैलाई गई। भीड़ द्वारा हत्या की घटनाएं असम, महाराष्ट्र, कर्नाटक, त्रिपुरा और पश्चिम बंगाल आदि राज्यों में हो चुकी हैं जो बहुत ही दुखद एवं निंदनीय है।

उसने कहा कि कानून एवं व्यवस्था बनाने वाले दोषियों को पकड़ने के लिए कदम उठा रहे हैं लेकिन भड़काऊ संदेशों को बड़ी तेजी से प्रसार के लिए व्हाट्सऐप जैसे प्लेटफार्म का दुरूपयोग भी बहुत चिंता का विषय है। इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने इस तरह के गैरजिम्मेदार संदेशों के प्रसार के मुद्दे को गंभीरता से लिया और इसको लेकर व्हाट्सऐप के वरिष्ठ प्रबंधन से गहरी नाराजगी जताई है।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार इस सोशल मीडिया के प्रबंधन को इस तरह के फर्जी और भड़काऊ संदेशों के प्रसार पर रोक लगाने के लिए आवश्यक उपाय करने की सलाह दी गई है। सरकार ने इस तरह के संदेशों के फैलाव पर तत्काल रोक लगाने के लिए उपयुक्त प्रौद्योगिकी का उपयोग करने के लिए भी कहा है।

उसने कहा कि इस तरह के प्लेटफार्म अपनी जिम्मेदारी से मुंह नहीं मोड़ सकता क्योंकि जब बेहतर प्रौद्योगिकी के नवाचार का दुरूपयोग कुछ उपद्रवियों द्वारा भड़काऊ संदेशों के प्रसार के लिए किया जाता हो उससे हिंसा फैलती है।