कवि सुरेन्द्र दुबे की स्मृति में 16 दिसम्बर को होगा भव्य काव्य महोत्सव

केकड़ी। अजमेर जिले के विश्वविख्यात हास्य कवि एवं संवेदनशील गीतकार स्व. सुरेन्द्र दुबे की तृतीय पुण्य तिथि के उपलक्ष्य में श्री सुरेन्द्र दुबे स्मृति संस्थान की ओर से भव्य सम्मान समारोह एवं अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा।

श्री सुरेन्द्र दुबे स्मृति संस्थान के पदाधिकारियों की वर्चुअल बैठक में यह निर्णय लिया गया कि गुलगांव जैसे छोटे से गांव में पैदा हो कर पूरी दुनिया में अजमेर जिले का मान बढ़ाने बाले अप्रतिम कवि, गीतकार एवं साहित्यकार स्व. दुबे की स्मृति में इस वर्ष भी भव्य आयोजन 16 दिसम्बर को किया जाएगा।

इस अवसर पर देश-विदेश में सुप्रसिद्ध प्रतिष्ठित कवयित्रि एवं साहित्यकारा डॉ. कीर्ति काले-नई दिल्ली को सुरेन्द्र दुबे की स्मृति में स्थापित चतुर्थ ‘गीत रत्न’ सम्मान एवं नगद पुरस्कार प्रदान किया जाएगा।

अब तक यह प्रतिष्ठित पुरस्कार देश के ख्याति प्राप्त हास्य कवि सुरेन्द्र शर्मा-नई दिल्ली तथा प्रतिष्ठित फिल्मी गीतकार संतांष आनंद-नई दिल्ली तथा पद्मश्री अशोक चक्रधर-नई दिल्ली को प्रदान किया गया था जिसमें एक लाख ग्यारह हजार एक सौ ग्यारह रुपए नगद एवं प्रतीक चिन्ह आदि दिए गए। देश भर में किसी कवि की स्मृति में व्यक्तिगत संस्थान द्वारा दिए जाने वाले पुरस्कारों में यह सबसे बड़ी राशि का पुरस्कार है।

कमेटी ने यह भी निर्णय लिया कि स्व. दुबे एक हास्य-व्यंग्य के कवि होने के साथ-साथ संवेदनशील गीतकार भी थे अतः इस वर्ष यह पुरस्कार किसी प्रतिष्ठित गीतकार को दिया जाएगा तथा देश के नामचीन कवियों को आमंत्रित किया जाएगा। इस अवसर को भव्य और श्रेष्ठतर बनाने हेतु कमेटियों का भी गठन किया गया है। महोत्सव के रूप में आयोजित होने वाले इस आयोजन की तैयारियां प्रारंभ कर दी गई है।

बैठक में संस्थान के अध्यक्ष चंद्रप्रकाश दुबे सचिव डॉ.अविनाश, प्रमुख मानद सदस्य केंद्रीय साहित्य अकादमी से पुरस्कृत ख्याति प्राप्त साहित्यकार एवं कवि एवं गीतकार डॉ. कैलाश मण्डेला, वरिष्ठ पत्रकार सुरेंद्र जोशी एवं स्थानीय गणमान्य सदस्यों ने भाग लिया।