ग्रेटर नोएडा के शाहबेरी में निर्माणाधीन दो इमारतें गिरी, 50 घायल

Greater Noida : Six-storey building crashes into another in Shah Beri village near gaur city

ग्रेटर नोएडा। उत्तर प्रदेश में गौतमबुद्ध नगर जिले के ग्रेटर नोएडा के शाहबेरी गांव में गौर चौक के पास मंगलवार की देर रात निर्माणाधीन एक इमारत दूसरी इमारत पर जा गिरी जिसमें कम से कम 50 लोग घायल हो गए।

मलबे में फंसे लोगों को निकालने के लिए राष्ट्रीय आपदा राहत बल की टीम गाजियाबाद से मौके पर पहुंच गई है। इस घटना में घायल हुए सभी लोगों को नजदीक के निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

ग्रेटर नोएडा की पुलिस अधीक्षक (देहात) सुनीति सिंह के मुताबिक रात करीब 10:00 बजे शाहबेरी गांव की जमीन पर एक निजी बिल्डर के द्वारा छह मंजिला इमारत का निर्माण कराया जा रहा था। निर्माण के दौरान ही इमारत बराबर में खड़ी चार मंजिला दूसरी इमारत के ऊपर जा गिरी।

इस हादसे में दोनों इमारतों में मौजूद करीब 50 लोग मलबे में दब गए। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की टीम मौके पर पहुंच गई। पुलिस और प्राधिकरण की टीम ने मिलकर मलबे में दबे लोगों को निकालने का प्रयास किया लेकिन मलबा अधिक होने के कारण सभी लोगों को वहां से नहीं निकाला जा सका। इसके बाद पुलिस ने गाजियाबाद से मदद के लिए एनडीआरएफ की टीम को बुलाया।

करीब 11:00 बजे एनडीआरएफ की टीम ने मौके पर पहुंचकर राहत एवं बचाव का कार्य शुरू किया इसके बाद समाचार लिखे जाने तक 20 से 22 लोगों को मलबे से निकालने में कामयाबी मिली है।

गौरतलब है कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट शाहबेरी गांव में भूमि अधिग्रहण को लेकर उच्च न्यायालय और उच्चतम न्यायालय में सुनवाई चल रही थी जिसके बाद अदालत ने गांव का अधिग्रहण रद्द कर दिया था। इसके बाद से शाहबेरी और आसपास के इलाके में किसी भी प्रकार का निर्माण पर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने रोक लगा रखी है।

तब से लेकर गांव के आसपास बिल्डरों के प्रोजेक्ट अटके हुए हैं इसी का लाभ उठाकर कुछ छोटे बिल्डर गांव की जमीन पर अवैध रूप से चार से छह मंजिला अपार्टमेंट बना रहे हैं। निर्माणाधीन जिस अपार्टमेंट के गिरने से यह घटना हुई वह भी अवैध रूप से बनाया जा रहा था।

इस हादसे को लेकर एसपी देहात का कहना है कि निर्माणाधीन एक बिल्डिंग दूसरी इमारत के ऊपर जा गिरी जिसके कारण यह हादसा बड़ा हो गया। फिलहाल पुलिस मौके पर है तथा राहत और बचाव कार्य जारी है।

सिंह ने बताया कि अभी तक जितने भी घायल निकाले गए हैं सभी को नोएडा एवं ग्रेटर नोएडा के निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। फिलहाल उनके नाम और पते एकत्र करने का काम जारी है।