भारत विकास परिषद की समूहगान एवं लोकगीत प्रतियोगिता में गूंजे तराने

अजमेर। भारत विकास परिष्द की अजमेर ईकाई की ओर से शनिवार को सूचना केन्द्र में राष्ट्रीय समूहगान एवं लोकगीत प्रतियोगिता आयोजित की गई।

यह राष्ट्रीय समूहगान प्रतियोगिता दर्शकों के लिए यादगार बन गई। हिंदी एवं संस्कृत के देश भक्ति गीतों से सभागार गूंज गया। प्रतियोगिता में 9 विद्यालयों के 80 विद्यार्थियों ने भाग लिया। यह कार्यक्रम परिषद की मुख्य, आदर्श, युवा तथा पुष्कर शाखा द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया गया।

दयानंद बाल निकेतन स्कूल के विद्यार्थियों ने ‘क्रांति की मशाल’, डेमोस्ट्रेशन स्कूल की टीम ने सादरं संहिताम, सेंट्रल एकेडमी की टीम ने भारत वन्दे मातरम गीत प्रस्तुत किए तथा विजेता रहे। पुष्कर से आई यूआरएम ने कोटि कोटि कंठों ने गीत गाया तथा विजेता रही। सभी विजेता टीमें प्रान्त स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेंगी।

प्रांतीय उपाध्यक्ष मुकुट बिहारी मालपानी, राधेश्याम अग्रवाल, रामचंद्र शर्मा व अनुज गर्ग ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की। प्रतियोगिता की निर्णायक संगीतज्ञ मधु माथुर, रेणुका तथा मनीषा शास्त्री रहीं। दर्शकों की मांग पर निर्णायकों ने भी गीत प्रस्तुत किए।

विभोर गर्ग, पीयूष गुप्ता, मोहित अग्रवाल और अर्पिता गोयल ने अथितियों का स्वागत किया। इस अवसर पर लोकगीत प्रतियोगिता भी आयोजित की गई जिसमें माहेश्वरी इंटरनेशनल स्कूल की टीम ने ‘ म्हारी चूंदड़ मांगे देओ’ गीत गाया और प्रथम स्थान प्राप्त किया।

प्रतियोगिता में द टर्निंग पॉइंट पब्लिक स्कूल, आदर्श विद्या निकेतन, स्वामी विवेकानंद माकड़वाली तथा आर्यपुत्री स्कूल की टीमों ने भाग लिया। कार्यक्रम का संचालन सुमित टांक ने किया।

इस अवसर पर सोम रत्न आर्य, गोपाल बंजारा, अशोक गोयल, राजेश अग्रवाल, अनिल शर्मा, दिनेश शर्मा, राधेश्याम वर्मा, मोहित अग्रवाल, देवेंद्र गर्ग विकास पालीवाल और अमित अग्रवाल उपस्थित थे।