भूपेन्द्र पटेल सरकार के मंत्रिमंडल के मंत्रियों को विभागों का बंटवारा

गांधीनगर। गुजरात के नए मुख्यमंत्री के मंत्रिमंडल की बैठक में गुरुवार को ही शपथ लेने वाले सभी 24 मंत्रियों को उनके विभागों का आवंटन किया गया।

इस संबंध में राज्य सरकार की ओर से जारी आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार मुख्यमंत्री ने सामान्य प्रशासन विभाग, प्रशासनिक सुधार एवं योजना, गृह एवं पुलिस हाउसिंग, सूचना एवं प्रसारण, पाटनगर (राजधानी) योजना, शहरी विकास एवं शहरी गृह निर्माण, उद्योग, खान और खनिज, नर्मदा, बंदरगाह तथा नीतिगत मुद्दों सहित वे सभी विभाग अपने पास रखे हैं जो किसी मंत्री को आवंटित नहीं किए गए हैं।

कैबिनेट मंत्रियों में राजेंद्र त्रिवेदी को राजस्व, आपदा प्रबंधन, विधि एवं न्याय तंत्र, वैधानिक एवं संसदीय मामले का विभाग दिया है। जितेंद्र (जीतु) वाघाणी को शिक्षा (प्राथमिक, माध्यमिक और प्रौढ़), उच्च एवं तकनीकी शिक्षा तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग की जिम्मेदारी सौंपी है।

ऋषिकेश पटेल को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, चिकित्सा शिक्षा, जल संसाधन एवं जलापूर्ति विभाग दिया गया है। पूर्णेश मोदी को सड़क एवं मकान, परिवहन, नागरिक उड्डयन, पर्यटन एवं यात्राधाम विकास विभाग आवंटित किया है। राघवजी पटेल को कृषि, पशुपालन विभाग दिया गया है।

कनु देसाई वित्त, ऊर्जा और पेट्रोकेमिकल्स विभाग संभालेंगे। किरीट राणा को वन, पर्यावरण, जलवायु परिवर्तन, छपाई एवं स्टेशनरी विभाग की कमान दी गई है तो नरेश पटेल आदिजाती विकास, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति तथा ग्राहक सुरक्षा मंत्रालय का जिम्मा संभालेंगे।

प्रदीप परमार को सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग सौंपा गया है जबकि अर्जुन चौहान ग्राम विकास एवं ग्राम गृह निर्माण विभाग संभालेंगे।

10 कैबिनेट मंत्रियों के अलावा स्वतंत्र प्रभार वाले पांच राज्य मंत्रियों में हर्ष संघवी को खेलकूद, युवक सेवा एवं सांस्कृतिक गतिविधि, स्वैच्छिक संस्थाओं का समन्वय, अनिवासी गुजराती का प्रभाग, गृह रक्षक दल एवं ग्राम रक्षक दल, नागरिक संरक्षण, नशाबंदी, आबकारी, जेल, सरहदी सुरक्षा (स्वतंत्र प्रभार), गृह एवं पुलिस हाउसिंग तथा आपदा प्रबंधन मंत्रालय का जिम्मा सौंपा गया है।

जगदीश पांचाल को कुटीर उद्योग, सहकारिता, नमक उद्योग एवं प्रोटोकॉल (स्वतंत्र प्रभार), उद्योग, वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन तथा प्रिंटिंग एवं स्टेशनरी विभाग दिया गया है।

बृजेश मेरजा को श्रम, रोजगार, पंचायत (स्वतंत्र प्रभार), ग्राम गृह निर्माण और ग्राम विकास विभाग की जिम्मेदारी दी गई है। वहीं, जीतु चौधरी को कल्पसर और मत्स्योद्योग (स्वतंत्र प्रभार), नर्मदा जल संसाधन और जलापूर्ति विभाग दिया गया है। मनीषाबेन वकील को महिला एवं बाल कल्याण (स्वतंत्र प्रभार), सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग सौंपा गया है।

अन्य नौ राज्य मंत्रियों में मुकेश पटेल को कृषि, ऊर्जा और पेट्रोकेमिकल्स विभाग तथा श्रीमती निमीषाबेन सुथार को आदिजाति विकास, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और चिकित्सा शिक्षा विभाग आवंटित किया गया है। अरविंद रैयाणी परिवहन, नागरिक उड्डयन, पर्यटन एवं यात्राधाम विकास विभाग की जिम्मेदारी संभालेंगे।

कुबेर डिंडोर को उच्च एवं तकनीकी शिक्षा, वैधानिक एवं संसदीय मामले विभाग का आवंटन किया गया है जबकि कीर्तिसिंह वाघेला प्राथमिक, माध्यमिक एवं प्रौढ़ शिक्षा विभाग तथा गजेंद्रसिंह परमार को खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति और ग्राहक सुरक्षा विभाग दिया गया है।

आरसी मकवाणा सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की जिम्मेदारी संभालेंगे। विनोद मोरड़िया को शहरी विकास एवं शहरी गृह निर्माण विभाग जबकि देवा मालम को पशुपालन एवं गौ संवर्धन विभाग का जिम्मा सौंपा गया है।