गुर्जरों ने किया आंदोलन तेज, जयपुर-आगरा मार्ग पर यातायात ठप

भरतपुर। राजस्थान में गुर्जरों द्वारा पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर किए जा रहे आंदोलन के तहत आंदोलनकारियों ने आज आगरा-जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग 21 को अवरुद्ध करके यातायात ठप कर दिया।

आंदोलनकारियों ने आगरा-जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 21 पर सिकंदरा में जाम लगा दिया। इससे इस मार्ग पर भरतपुर, आगरा, अलीगढ़, धौलपुर, हिंडौन और करौली के लिए जाने वाली रोडवेज की बसों के साथ सभी तरह के वाहनों के पहिए थम गए।

रोडवेज सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर लगे जाम के बाद अब रोडवेज बसों को मानपुर चौराहे से निकाला किया जा रहा है। इस मार्ग पर रोडवेज ने बसों का संचालन बंद कर दिया है। जयपुर से रवाना होने वाली बसें दौसा तक ही जा रही हैं।

दूसरी ओर सवाईमाधोपुर के मलारणाडुंगर में गुर्जर समाज के सैकड़ों लोग लगातार चौथे दिन भी पटरियों पर डटे हुए हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार मलारणाडुंगर में धरना स्थल से दो किलोमीटर दूर मलारना स्टेशन पर ऐहतियात के तौर पर पुलिस बल बढ़ा दिया गया है। यहां एसटीएफ, आरपीएफ और एसडीआरएफ की कंपनियों को तैनात कर दिया गया है। राजस्थान पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी भी रेलवे स्टेशन से ही धरनास्थल पर नजर रख रहे हैं।

गुर्जर आरक्षण आंदोलन को लेकर कल धौलपुर में हुई हिंसक वारदातों के बाद फिलहाल जिले में शांति कायम है। यहां धारा 144 के चलते जगह-जगह पुलिस बल तैनात किया गया है। पुलिस लगातार गश्त कर रही है। धौलपुर के राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या तीन पर भी बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात किए गए है।

सम्भाग के करौली जिले में गुर्जर आरक्षण आंदोलन के बाद हिण्डौन रेलवे स्टेशन पर चौथे दिन भी सन्नाटा पसरा हुआ है। उधर, टोंक में आंदोलनकारी एक मंदिर के पास एकत्रित होने की सूचना है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आंदोलनकारियों से शांति बनाए रखने का पुन: अनुरोध किया है।