हाफिज सईद पर मुकदमा चलाया जाना चाहिए : अमरीका

Hafiz Saeed should be prosecuted to fullest extent of law : US
Hafiz Saeed should be prosecuted to fullest extent of law : US

वाशिंगटन। अमरीका ने कहा कि जमात-उद-दावा (जेयूडी) प्रमुख हाफिज सईद पर ‘कानून की अंतिम सीमा तक’ मुकदमा चलाया जाना चाहिए, क्योंकि अमरीका उसे एक आतंकवादी मानता है। हाफिज को मुंबई आतंकवादी हमले का मास्टरमांइड माना जाता है। अमेरिकी विदेश विभाग की प्रवक्ता हीदर नॉर्ट ने गुरुवार को कहा कि अमेरिका ने पाकिस्तान को सईद के खिलाफ कार्रवाई करने का संदेश भेजा है।

इस हफ्ते के शुरू में जियो न्यूज को दिए गए साक्षात्कार में सईद के नाम में ‘साहब’ लगाते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बानी पहले ही सईद पर मुकदमा नहीं चलाने का फैसला कर चुके हैं। उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान में उसके खिलाफ कोई मामला नहीं है।

अब्बासी की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए नॉर्ट ने कहा कि हम उसे एक आतंकवादी मानते हैं, जो विदेशी आतंकवादी संगठन का हिस्सा है। हम मानते हैं कि वह 2008 मुंबई आतंकवादी हमले का मास्टरमाइंड था, जिसमें अमेरिकियों के साथ कई लोग मारे गए।

उन्होंने कहा कि हमने अपने बिंदुओं व अपनी चिंताओं को पाकिस्तानी सरकार को साफ तौर पर बता दिया है। हम मानते हैं कि इस व्यक्ति पर मुकदमा चलाया जाना चाहिए।”

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान सरकार ने उसे नजरबंदी से हाल में ही रिहा किया है। हम मानते हैं कि उस पर कानून की अंतिम व व्यापक सीमा तक मुकदमा चलाया जाना चाहिए। सईद के लश्कर-ए-तैयबा से संबंध होने के कारण उसे लक्षित प्रतिबंधों के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद 1267 द्वारा सूचीबद्ध किया गया है।

व्हाइट हाउस पहले ही साफ कर चुका है कि यदि पाकिस्तान सईद को हिरासत में लेने व आरोप लगाने की कार्रवाई नहीं करता तो इसका अमरीका-पाकिस्तान के संबंधों पर असर पड़ेगा।

पाकिस्तानी अधिकारियों ने सईद को नवंबर में साक्ष्यों के अभाव में नजरबंदी से रिहा कर दिया था। अमरीका ने मई 2008 में सईद को विशेष रूप से नामित वैश्विक आतंकवादी घोषित किया था।