HAPPY BIRTHDAY : 40 की हुईं एक्ट्रेस विद्या बालन

मुंबई। बॉलीवुड में अपने संजीदा अभिनय के लिए मश्हूर अभिनेत्री विद्या बालन आज 40 वर्ष की हो गईं। एक जनवरी 1979 को केरल में जन्मी विद्या बालन बचपन के दिनों से अभिनेत्री बनने का ख्वाब देखा करती थीं।

वर्ष 1995 में विद्या बालन को जीटीवी पर प्रसारित धारावाहिक हम पांच में काम करने का अवसर मिला। विद्या बालन ने फिल्मों में अपने करियर की शुरूआत वर्ष 2003 में प्रदर्शित बंग्ला फिल्म भालो थेको से की।

विद्या बालन ने बॉलीवुड में अपने करियर की शुरूआत वर्ष 2005 में प्रदर्शित विदु विनोद चोपड़ा की फिल्म परिणीता से की। इस फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ डेब्यू अभिनेत्री का फिल्मफेयर पुरस्कार दिया गया। फिल्म में विद्या बालन के अपोजिट संजय दत्त थे। फिल्म टिकट खिड़की पर सुपरहिट साबित हुई।

वर्ष 2006 में विद्या बालन को एक बार फिर से विद्यु विनोद चोपड़ा की फिल्म लगे रहो मुन्ना भाई में संजय दत्त के साथ काम करने का अवसर मिला। इस फिल्म में भी उनके अभिनय को दर्शकों ने सराहा। वर्ष 2007 में उनको मणिरत्नम की फिल्म गुरू में काम करने का अवसर मिला। फिल्म में विद्या की भूमिका छोटी थी बावजूद इसके उन्होंने दर्शकों का दिल जीत लिया।

वर्ष 2007 विद्या बालन के करियर का अहम वर्ष साबित हुआ। इस वर्ष उनकी ‘हे बेबी’ और ‘भुल भुलैया’ जैसी सुपरहिट फिल्में प्रदर्शित हुई। भुल भुलैया के लिए विद्या सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार के लिए नामांकित भी हुई। वर्ष 2009 में प्रदर्शित फिल्म पा में उन्होंने अमिताभ बच्चन की मां का किरदार निभाया। इस फिल्म के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फिल्म फेयर पुरस्कार दिया गया।

वर्ष 2010 में प्रदर्शित फिल्म ‘इश्किया’ उनके करियर की महत्वपूर्ण फिल्मों में शुमार की जाती है। इस फिल्म में उनके अभिनय का नया रूप दर्शकों को देखने को मिला। फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिए वह फिल्मफेयर द्वारा सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के क्रिटिक्स पुरस्कार से सम्मानित की गई।

वर्ष 2011 में प्रदर्शित फिल्म ‘द डर्टी पिक्चर’ विद्या बालन के करियर की सबसे कामयाब फिल्म साबित हुई। एकता कपूर के बैनर तले बनी इस फिल्म में विद्या बालन ने दक्षिण भारतीय अभिनेत्री सिल्क स्मिता के किरदार को रूपहर्ले पर्दे पर जीवंत कर दिया। फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के राष्ट्रीय पुरस्कार और फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

वर्ष 2012 में प्रदर्शित फिल्म ‘कहानी’ भी उनके करियर के लिए मील का पत्थर साबित हुई। इस फिल्म के जरिये विद्या बालन ने अपने सधे हुए अभिनय से दिखा दिया कि ग्लैमर का सहारा लिये बगैर फिल्म को सुपरहिट बनाया जा सकता है। इस फिल्म के लिए भी विद्या को सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फिल्म फेयर पुरस्कार दिया गया। इसी वर्ष विद्या ने यूटीवी के सीइओ सिद्धार्थ रॉय कपूर से शादी कर ली।

वर्ष 2014 में विद्या बालन पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित की गई। वर्ष 2014 में ही उनकी फिल्म शादी के साइड इफेक्टस और बॉबी जासूस प्रदर्शित हुई लेकिन फिल्म टिकट खिड़की पर कोई खास कमाल नहीं दिखा सकी। वर्ष 2017 में उनकी बेगम जान और तुम्हारी सुलु जैसी फिल्में प्रदर्शित हुई और दोनों ही फिल्मों ने टिकट खिड़की पर शानदार कमाई की।