प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराने वाले एक कोचिंग सेंटर पर छापा

जीनियस एजूकेशन प्वाइंट कोचिंग
जीनियस एजूकेशन प्वाइंट कोचिंग

SABGURU NEWS | हरिद्वार जिलाधिकारी दीपक रावत ने प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराने वाले एक कोचिंग सेंटर पर छापा मारा। इस सेंटर से 66 अभ्यर्थियों के UPCL JE के लिए चयनित होने की शिकायत पर उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने डीएम को कार्रवाई के निर्देश दिए थे।

पिछले साल नवंबर में उत्तराखंड पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (यूपीसीएल) जेई के 252 पदों के लिए परीक्षा हुई थी। मालवीय चौक के समीप स्थित जीनियस एजूकेशन प्वाइंट कोचिंग सेंटर के 66 अभ्यर्थियों का इसमें चयन हुआ। आयोग के निर्देश पर मारे गए छापे के दौरान जिलाधिकारी ने कोचिंग सेंटर के तमाम दस्तावेज जब्त कर लिए।

कोचिंग सेंटर के संचालक और वहां पढ़ने वाले छात्रों से भी डीएम ने पूछताछ की। डीएम ने कोचिंग सेंटर संचालक चंद्रशेखर तिवारी से सेंटर में पढ़ने वाले छात्रों की संख्या और कोचिंग की फैकल्टी आदि के बारे में भी पूछताछ की। यूकेएसएससी की ओर से गत वर्ष पांच नवंबर को कराई गई यूपीसीएल जेई की परीक्षा में जिन 66 अभ्यर्थियों का चयन हुआ है, उनका रेकॉर्ड भी मांगा। कोचिंग सेंटर संचालक उनका कोई रेकॉर्ड नहीं दिखा पाए। इस पर जिलाधिकारी ने कोचिंग सेंटर संचालक को फटकार लगाई। साथ ही सेंटर में जितने भी रजिस्टर व अन्य दस्तावेज थे, उन्हें प्रशासनिक टीम ने जब्त कर लिया।

क्या श्रीदेवी की मौत के बाद बोनी कपूर इस अभिनेत्री से करेंगे शादी

इसके बाद जिलाधिकारी ने कोचिंग कर रहे छात्रों से यूपीसीएल परीक्षा में चयनित हुए अभ्यर्थियों के बारे में पूछा। इस पर अभ्यर्थियों ने कहा कि जिनका चयन हुआ है, वह सभी उनके साथ पढ़ते थे, लेकिन कोचिंग संचालक की ओर से उन अभ्यर्थियों के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई। फीस को लेकर भी कोई रजिस्टर या अन्य रेकार्ड नहीं मिले। उधर, कोचिंग सेंटर संचालक का कहना है कि मेहनत के बल पर अभ्यर्थियों का चयन हुआ है। जिससे कुछ कोचिंग सेंटर उनके खिलाफ झूठी शिकायत कर रहे हैं। प्रशासन को जांच में हर तरह का सहयोग किया जाएगा।

यह लड़की मौत के बाद भी करती थी बातें || देखिये ये वीडियो