हरिवंश राज्यसभा के उपसभापति चुने गये

Harishvansh Rajya Sabha's Deputy Speaker elected
Harishvansh Rajya Sabha’s Deputy Speaker elected

नयी दिल्ली । राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के उम्मीदवार हरिवंश को आज राज्यसभा का उपसभापति चुन लिया गया। उनके पक्ष में 125 मत पड़े जबकि विरोध में 105 सदस्यों ने मतदान किया।

हरिवंश के खिलाफ ने विपक्ष ने कांग्रेस के बी के हरिप्रसाद को अपना उम्मीदवार बनाया था। विपक्ष के कुछ सदस्य मतदान के दौरान सदन में मौजूद नहीं थे।

राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होते ही सभापति एम. वेंकैया नायडु के जरुरी कागजात पटल पर रखवाने के तुरंत बाद उपसभापति के चुनाव की प्रक्रिया शुरु की। उन्होंने बताया कि उपसभापति के चुनाव के लिए नौ नोटिस मिले और संबंधित सदस्यों से अपने उम्मीदवारों के पक्ष में प्रस्ताव पेश करने को कहा। हरिवंश के पक्ष में चार तथा हरिप्रसाद के पक्ष में पांच प्रस्ताव पेश किये गये।

सबसे पहले जनता दल यू के रामचंद्र प्रसाद सिंह ने श्री हरिवंश के पक्ष में प्रस्ताव पेश किया और रिपब्लिकन पार्टी (ए) के सदस्य एवं केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने इसका समर्थन किया। इसके बाद बहुजन समाज पार्टी के सतीश चंद्र मिश्रा ने श्री हरिप्रसाद के नाम का प्रस्ताव किया और कांग्रेस के विवेक तन्खा ने समर्थन किया।

राष्ट्रीय जनता दल की मीशा भारती ने श्री हरिप्रसाद के पक्ष में प्रस्ताव रखा जिसका तेलुगू देशम पार्टी के वाई एस चौधरी ने समर्थन किया। इसके अलावा कांग्रेस के आनंद शर्मा ने, समाजवादी पार्टी रामगोपाल यादव तथा राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की वंदना चव्हाण ने भी हरिप्रसाद के समर्थन में प्रस्ताव पेश किया जिनका समर्थन क्रमश: कांग्रेस के भुवनेश्वर कलिता, कांग्रेस के अहमद अशफाक करीम और कांग्रेस के ही जी कुपेंद्र रेड्डी ने किया।

हरिवंश के पक्ष में भारतीय जनता पार्टी के अमित शाह, शिवसेना के संजय राउत और शिरोमणि अकाली दल के सुखदेव सिंह ढ़िंढसा ने भी प्रस्ताव पेश किये जिनका समर्थन क्रमश:भाजपा के राम विचार नेताम, जद यू की कहकशां परवीन और तथा अन्नाद्रमुक की विजिला सत्यानंत ने किया।

इसके बाद सभापति ने श्री हरिवंश के पक्ष में श्री रामचंद्र प्रसाद सिंह द्वारा पेश प्रस्ताव पर मतदान कराया। श्री नायडु ने घोषणा की कि मतदान में प्रस्ताव के पक्ष में 125 मत पड़े हैं जबकि विरोध में 105 सदस्यों ने मत दिया है और उन्होेंने श्री हरिवंश को निर्वाचित घोषित किया। जिसका दोनों आेर के सदस्यों ने मेजें थपथपाकर स्वागत किया।

इसके बाद श्री हरिवंश को सदन के नेता अरुण जेटली, संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार एवं राज्य मंत्री विजय गोयल तथा सदन में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद उपसभापति की सीट तक ले गये। इसके तुरंत बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उपसभापति की सीट पर जाकर श्री हरिवंश से हाथ मिलाया और उन्हें निर्वाचित होने की बधाई दी।