मां के सामने गैंगरेप के बाद कीटनाशक पिलाकर दो बहनों की हत्या

सोनीपत। हरियाणा में सोनीपत के कुंडली थाना क्षेत्र के एक गांव में दो नाबालिग बहनों के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद उन्हें कीटनाशक पिला दिया गया जिससे उनकी दिल्ली में उपचार के दौरान मौत हो गई। यह वारदात लड़कियों की मां के सामने हुई। पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

मिली जानकारी के अनुसार एक प्रवासी विधवा महिला अपनी दो बेटियों और दो बेटों के साथ कुंडली थाना क्षेत्र के गांव में किराए पर रहती हैं। उसी परिसर में अलग कमरे में बिहार के चार अन्य युवक भी रहते थे। विधवा पांच अगस्त की रात को कमरे में अपनी 14 और 16 साल की बेटियों के साथ सो रही थी। उसके बेटे दूसरे कमरे में थे।

देर रात करीब दो बजे विधवा लघुशंका के लिए कमरे से बाहर निकली तो पड़ोस में रहने वाले चार युवक कमरे में घुस गए। उन्होंने कमरे में उसकी बेटियों को दबोच लिया। इसी बीच महिला वापस आई तो आरोपियों ने उसका मुंह दबाकर एक तरफ बैठा दिया।

इस दौरान आरोपियों ने दोनों नाबालिग बहनों के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया और विरोध करने पर बाद में दोनों को कमरे में रखा कीटनाशक पिला दिया। जिससे उनकी हालत बिगड़ गई। आरोपियों ने महिला को धमकी दी कि अगर उसने किसी को इस बारे में कुछ बताया तो वह उसके बेटों को मार देंगे।

उन्होंने उसे कहा कि कोई पूछे तो बता देना कि इन्हें सर्प ने डस लिया है। बेटों को मारने की धमकी के चलते महिला डरकर चुप रही। तडक़े तक बेटियों की हालत ज्यादा बिगड़ गई। जिस पर दोनों को नरेला के अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां पर उनकी मौत हो गई।

मामले की सूचना के बाद कुंडली थाना पहुंची तो महिला ने सर्पदंश से बेटियों की मौत होने की बात कही थी। जिस पर दिल्ली में दोनों के शवों का पोस्टमार्टम करा दिया गया था। जिसकी रिपोर्ट सोमवार शाम मिलने पर पुलिस को बताया लगा कि लड़कियों के साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ है। साथ ही उन्हें कोई कीटनाशक पिलाया गया है। उनकी मौत सर्पदंश से नहीं हुई है।

जिस पर पुलिस ने विधवा महिला से पूछताछ की तो उसने सच्चाई बता दी। पुलिस ने रात को महिला के बयान पर चारों आरोपियों मूलरूप से बिहार के जिला दरभंगा के गांव महागही निवासी अरुण, गांव मुसहेरी निवासी फूलचंद, धयोकली निवासी दुखन और समस्तीपुर निवासी रामसुहाग के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म, जहरीला पदार्थ खिलाकर हत्या करने का मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने मंगलवार देर शाम को चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस आरोपियों को बुधवार को अदालत में पेश करेगी।

कुंडली के थाना प्रभारी रवि कुमार ने कहा कि दो लड़कियों की मौत के बाद उनकी मां ने सर्पदंश से मौत होने की बात कही थी। पुलिस ने सजगता बरतते हुए पोस्टमार्टम कराया था। जिसमें मामले का खुलासा हो गया। आरोपियों ने महिला को डराकर चुप करा दिया था। जिस पर मुकदमा दर्ज कर चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।