एचडीएफसी आरंभिक सार्वजनिक निर्गम 25 जुलाई 2018 को खुलकर 27 जुलाई, 2018 को बंद होगा

HDFC AMC IPO Announcement
HDFC AMC IPO Announcement

जयपुर । एचडीएफसी एसेट मैनेजमेंट कंपनी लिमिटेड ‘‘कंपनी‘‘ अथवा ‘‘इश्यूअर‘‘ ने पूंजी जुटाने के लिए 5 रूपये सम मूल्य ‘‘इक्विटी शेयर‘‘ के 25,457,555 इक्विटी शेयरों का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम लाने का प्रस्ताव रखा है। कंपनी हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस काॅर्पोरेशन लिमिटेड द्वारा 8,592,970 इक्विटी शेयरों की ‘‘आॅफर फाॅर सेल‘‘ और स्टैंडर्ड लाइफ इन्वेस्टमेंट लिमिटेड द्वारा 16,864,585 इक्विटी शेयरों की बिक्री की पेशकश साथ मिलकर ‘‘प्रवर्तक विक्रय शेयरधारक‘‘ और इस तरह की पेशकश, ‘‘आॅफर‘‘ करेगी।

इस निर्गम में जनता के लिए 22,177,555 इक्विटी शेयरों तक का शुद्ध निर्गम ‘‘नेट आॅफर‘‘ शामिल है, जिसमें योग्य एचडीएफसी एएमसी के कर्मचारियों ‘‘डेफिनिशंस एंड एब्रीविएशंस‘‘ में जैसा उल्लिखित है ‘‘एचडीएफसी एएमसी एम्प्लाॅई आरक्षण हिस्सा‘‘ द्वारा खरीद के लिए 320,000 इक्विटी शेयरों जिसमें 0.15 प्रतिशत निर्गम पश्चात चुकता इक्विटी शेयर पूंजी शामिल है तक का आरक्षण; योग्य एचडीएफसी के कर्मचारियों ‘‘डेफिनिशंस एंड एब्रीविएशंस‘‘ में जैसा उल्लिखित है।

‘‘एचडीएफसी एम्प्लाॅई आरक्षण हिस्सा‘‘ द्वारा खरीद के लिए 560ए000 इक्विटी शेयरों जिसमें 0.26 प्रतिशत निर्गम पश्चात चुकता इक्विटी शेयर पूंजी शामिल है तक का आरक्षण और योग्य एचडीएफसी शेयरधारकों ‘‘डेफिनिशंस एंड एब्रीविएशंस‘‘ में जैसा उल्लिखित है ‘‘एचडीएफसी शेयरधारक आरक्षण हिस्सा‘‘ द्वारा खरीद के लिए 2ए400ए000 इक्विटी शेयरों जिसमें 1.13 प्रतिशत निर्गम पश्चात चुकता इक्विटी शेयर पूंजी शामिल है तक का आरक्षण भी है। निर्गम और शुद्ध निर्गम में कंपनी की निर्गम-पश्चात चुकता इक्विटी शेयर पूंजी का क्रमशः 12.01 प्रतिशत और 10.46 प्रतिशत शामिल होगा।

बिड/निर्गम बंद होने की तारीख 27 जुलाई, 2018 है। कंपनी और प्रवर्तक विक्रय शेयरधारक बीआरएलएम्स के साथ विचार-विमर्श कर सेबी आइसीडीआर रेगुलेशंस के मुताबिक एंकर निवेशकों की प्रतिभागिता पर विचार कर सकते हैं। एंकर निवेशक की बोली लगाने की तारीख बिड/निर्गम खुलने की तिथि से एक कामकाजी दिन पहले यानी 24 जुलाई 2018 होगी।

इस निर्गम के लिए प्राइस बैंड 1,095 रूपये से 1,100 रूपये प्रति इक्विटी शेयर तय किया गया है। बिड्स न्यूनतम 13 इक्विटी शेयरों एवं उसके बाद 13 इक्विटी शेयरों के गुणक में लगाई जा सकती हैं।

इक्विटी शेयरों बीएसई और एनएसई में सूचीबद्ध होना प्रस्तावित हंै।
इस निर्गम के लिए बुक रनिंग लीड मैनेजर्स ‘‘बीआरएलएम्स‘‘ कोटक महिन्द्रा कैपिटल कंपनी लिमिटेड, ऐक्सिस कैपिटल लिमिटेड, डीएसपी मेरिल लिंच लिमिटेड, सिटीग्रुप ग्लोबल मार्केट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, सीएलएसए इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, एचडीएफसी बैंक लिमिटेड, आईसीआईसीआई सिक्युरिटीज लिमिटेड, आईआईएफएल होल्डिंग्स लिमिटेड, जेएम फाइनेंशियल लिमिटेड, जे.पी. माॅर्गन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, माॅर्गन स्टैनले इंडिया कंपनी प्राइवेट लिमिटेड और नोमुरा फाइनेंशियल एडवायजरी एंड सिक्युरिटीज (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड हैं।

यह निर्गम आइसीडीआर रेगुलेशंस के नियम 26 (1) के अनुसार बुक बिल्डिंग प्रोसेस के माध्यम से लाया जा रहा है। इसके तहत शुद्ध निर्गम का 50 प्रतिशत आनुपातिक आधार पर क्वालीफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स ‘‘क्यूआइबी‘‘ को आवंटन के लिए उपलब्ध होगा। इसमें ऐसा प्रावधान है कि कंपनी और प्रवर्तक विक्रय शेयरधारक बीआरएलएम्स के साथ विचार-विमर्श कर अपने विवेक के आधार पर क्यूआइबी हिस्से का 60 प्रतिशत तक एंकर निवेशकों ‘‘एंकर इन्वेस्टर हिस्सा‘‘ को आवंटित कर सकते हैं। एंकर निवेशक हिस्से का कम से कम एक-तिहाई हिस्सा सिर्फ घरेलू म्यूचुअल फंडों के लिए आरक्षित होगा। इसे एंकर इन्वेस्टर एलोकेशन प्राइस पर या इससे अधिक दाम पर घरेलू म्यूचुअल फंडों से वैध बिड्स मिलना अनिवार्य हैं।

क्यूआबी हिस्से का 5 प्रतिशत एंकर निवेशकों को छोड़कर आनुपातिक आधार पर सिर्फ म्यूचुअल फंडों के लिए आवंटन के लिए उपलब्ध होगा। शेष शुद्ध क्यूआइबी हिस्सा आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए सभी क्यूआइबी बिडर्स (एंकर निवेशकों के अलावा) जिसमें म्यूचुअल फंड शामिल हैं, के लिए उपलब्ध होगा। इसे निर्गम की कीमत पर या इससे अधिक दाम पर वैध बिड्स मिलना अनिवार्य हैं।

यही नहीं, आइसीडीआर रेगुलेशंस के नियमों के अनुसार शुद्ध निर्गम का कम से कम 15 प्रतिशत हिस्सा आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए गैर संस्थागत निवेशकों के लिए, जबकि कम से कम 35 प्रतिशत हिस्सा खुदरा व्यक्तिगत निवेशकों के लिए उपलब्ध होगा। इन्हें निर्गम की कीमत पर या इससे अधिक दाम पर वैध बिड्स मिलना अनिवार्य हैं।

एंकर निवेशकों को छोड़कर, सभी संभावित बिडर्स एप्लीकेशन सपोर्टेड बाइ ब्लाॅक्ड अमाउंट ‘‘एएसबीए‘‘ प्रोसेस के माध्यम से आॅफर में भाग लेंगे। इसके लिये उन्हें अपने संबंधित खाते का विवरण उपलब्ध कराना होगा, जिसे सेल्फ सर्टिफाएड सिंडीकेट बैंक्स ‘‘एससीएसबीज‘‘ द्वारा ब्लाॅक किया जायेगा। एंकर निवेशकों को एएसबीए प्रोसेस के माध्यम से एंकर इन्वेस्टर पोर्शन में भाग लेने की अनुमति नहीं है।