मैं कौन हूं? आत्मा क्या है? जीवन का लक्ष्य क्या है?

अजमेर। दुनिया में रहने वाले हर जीव के लिए सबसे अजब पहेली या यूं कहें कि सवाल यह है कि मैं कौन हूं? हाड मांस का बना शरीर तो एक दिन मृत्यु होने पर जला दिया जाता है। आखिर वह कौन सी अदृश्य शक्ति है जिसके कारण हम जिंदा कहलाते हैं और उसके नहीं होने पर मुर्दा?

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के तत्त्वावधान में अजमेर के आजाद पार्क में चल रहे हेल्थ वेल्थ हैप्पीनेस आध्यात्मिक मेले में इसी सवाल का जवाब मिल रहा है। मैं कौन हूं?

आत्मा का अपना स्वरूप व लक्ष्य शान्ति है। आत्मा का धर्म शान्त है। जैसे परमपिता परमात्मा का परिचय वैसे आत्माओं का भी परिचय होता है। आत्मा असली स्वरूप पवित्रता, शान्ति और सत्यता होता है। हर जीव आत्मा है और इस धरती पर अपना रोल अदा करती है। ये दुनिया असंख्य आत्माओं से बना मंदिर है। इसलिए भागमभाग भरी जिंदगी में इस सच को न बिसराएं।  आत्मा के बारे और अधिक जानकारी दे रहीं है बीके सोनू बहन, वीडियो को क्लीक करें और जानें।

यह भी पढें

VIDEO राजयोग : यहीं तो है खुशनुमा जिंदगी जीने की कला
Video : वैल्यू गेम्स के जरिए जानिए अपने भीतर छिपे गुण

अजमेर में ही करें बाबा बर्फानी के दर्शन, आजाद पार्क चलें

Video : आध्यात्मिक मेले में कुंभकरण का लाइव शो बना आकर्षण का केन्द्र

अजमेर में ब्रह्मकुमारीज के हैल्थ-वैल्थ एंड हैप्पीनेस आध्यात्मिक मेले का आगाज

Video : सृष्टि के रहस्य का अदभुत रोमांच, धरती पर उतर आया स्वर्ग