पाकिस्तान में उपद्रवी भीड़ ने जन्माष्टमी के दिन तोड़ी भगवान कृष्ण की मूर्ति

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय सोमवार को जब भगवान कृष्ण का जन्मोत्सव पूरे हर्षोल्लास के साथ मना रहा था, तभी सिंध प्रांत के संघार जिले में उपद्रवी भीड़ ने एक हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ की और भगवान कृष्ण की मूर्ति तोड़ दी।

पाकिस्तान की नेशनल असेंबली के सदस्य लाल मल्ही ने ट्वीट कर मंदिर को अपवित्र किए जाने और मूर्ति को तोड़े जाने की कड़ी निंदा की। उन्होंने मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी को टैग करते हुए ट्वीट किया कि खिप्रो-सिंध में मंदिर को अपवित्र किए जाने और भगवान कृष्ण की मूर्ति को तोड़े जाने की कड़ी निंदा करता हूं। कानून लागू करने वालों को मंदिरों और देवी-देवताओं पर बार-बार होने वाले हमलों को रोकने के लिए तेजी से कार्रवाई करनी चाहिए।
सोशल मीडिया पर तस्वीरों में भगवान कृष्ण की मूर्ति को कई टुकड़ों में टूटा हुआ दिखाया गया है।

गौरतलब है कि इस महीने की शुरुआत में, पंजाब प्रांत में रहीमयार खान जिले के भोंग शहर में एक हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ करने के आरोप में कई लोगों को गिरफ्तार किया गया था। चार अगस्त को एक उन्मादी भीड़ ने शहर में एक गणेश मंदिर में तोड़फोड़ की और देवताओं की मूर्तियों को तोड़ दिया।