सीकर में हिस्ट्रीशीटर राजू ठेहट की हत्या, 4 संदिग्ध हत्यारों की पहचानs

सीकर / जयपुर। राजस्थान के सीकर जिले में कुख्यात हिस्ट्रीशीटर राजू ठेहट की आज सुबह बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। हत्याकांड में शामिल चार संदिग्धों की पहचान कर ली गई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सीकर के पिपराली रोड़ पर इस दौरान बदमाशों की गोली से एक अन्य व्यक्ति की भी मौत हो गई। एक बदमाश ने पीले रंग की कोचिंग ड्रेस पहनी रखी थी और राजू ठेहट को अपने साथ फोटो खींचने के लिए बाहर बुलाया और साथ फोटो खिंचाने के बहाने गोली मार दी।

हमलावर चार लोग बताए जा रहे हैं और गोली मारने के बाद कुछ कदम चलने के पश्चात दौड़कर वापस आए और फिर गोलिया दागी गई। इस दौरान नागौर जिले के एक व्यक्ति के भी गोली लगने से उसकी मृत्यु हो गई। घटना के बाद बदमाश मौके से फरार हो गए।

पुलिस महानिदेशक उमेश मिश्रा ने बताया कि राजू ठेहट हत्याकांड में शामिल पांच संदिग्धों में से चार की पहचान कर ली गई है। बदमाशों को पकड़ने के लिए पूरे प्रदेश में नाकाबंदी की गई है। उन्होंने बताया कि सीकर में स्थिति शांतिपूर्ण है और स्थिति पर गंभीरता से नजर रखी जा रही है। इस मामले में जिन चार संदिग्धों की पहचान हुई है उनके नाम अभी उजागर नहीं किए गए है। पुलिस सीसीटीवी फुटेज खंखाल कर बदमाशों को पकड़ने का प्रयास कर रही है। सीकर, झुंझुनूं, चूरु, श्रीगंगानगर सहित सीकर से लगते जिलों में पुलिस की कड़ी नाकाबंदी की गई हैं।

इस घटना के बाद वीर तेजा सेना ने सीकर बंद का आह्वान किया हैं और अस्पताल की मोर्चरी के बाहर भीड़ जमा हो गई। लोगों की भीड़ के बाजार घूमकर दूकाने बंद कराने पर बाजार में व्यापारियों ने अपनी दुकानें बंद करनी शुरु कर दी। इसके मद्देनजर पुलिस ने शहर में शांति एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया हैं और पुलिस के अधिकारी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं।

उधर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक एवं नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने सोशल मीडिया के जरिए कहा कि आज सीकर में जो घटनाक्रम हुआ, उससे एक बार पुन: सरकार का तंत्र और पुलिस का इंटेलिजेंस नाकाम साबित हुआ, दिन दहाड़े सरे आम सीकर शहर के कोचिंग क्षेत्र में जहां हजारों बच्चों का आना जाना रहता है, ऐसे घटनाक्रम में बच्चों की जान भी जा सकती थी।

बेनीवाल ने कहा कि पूरे मामले में जो वीडियो फुटेज सामने आए उससे यह जाहिर है की अपराधियों में किसी का कोई खौफ नहीं रहा, क्योंकि अपराधी अपना चेहरा दिखाते हुए और फायरिंग करते हुए बेखौफ जा रहे है उससे वो संदेश दे रहे है की हम सरकार और पुलिस के तंत्र से बड़े है। उन्होंने कहा कि पुलिस महानिदेशक ने राज्य के पूरे पुलिस तंत्र को कांग्रेस नेता राहुल गांधी की यात्रा में लगा रखा है। उन्होंने कहा कि इस मामले में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को अपना वक्तव्य देना चाहिए।