होली-2018 : भूलकर भी न करें ये 5 काम,तंत्र साधना के ल‍िए खास है होलिका दहन की रात

Holi celebrations events in ajmer
Holi celebrations events in ajmer
SABGURU NEWS | नई द‍िल्‍ली : होली का त्‍योहार जहां रंगों से जीवन में उल्‍लास लाने वाला होता है वहीं इसके साथ तंत्र साधना का योग भी जुड़ा हुआ है। माना जाता है क‍ि इस द‍िन तंत्र-मंत्र को मानने वाले खास स‍िद्ध‍ियों के लिए पूजन करवाते हैं। वैसे होलिका दहन की रात्रि को तंत्र साधना की दृष्टि से हमारे शास्त्रों में महत्वपूर्ण माना गया है | और यह रात्रि तंत्र साधना व लक्ष्मी प्राप्ति के साथ खुद पर किए गए तंत्र मंत्र के प्रतिरक्षण हेतु सबसे उपयुक्त मानी गई है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें क‍ि वैदिक काल में होली के इस पर्व को नवान्नेष्टि यज्ञ कहा जाता था। ऐसी भी मान्यता है कि जब भगवान शंकर ने अपनी क्रोधाग्नि से कामदेव को भस्म कर दिया था, तभी से होली का प्रचलन हु‌आ। कई लोग भगवान श‍िव के इससे जुड़े होने के कारण ही तंत्र और मंत्र को होली से जोड़ते हैं। तंत्र शास्त्र के अनुसार होली के दिन कुछ खास उपाय करने से मनचाहा काम हो जाता है। तंत्र क्रियाओं की प्रमुख चार रात्रियों में से एक रात ये भी है।

शास्त्रों में इसका उल्लेख मिलता है कि फाल्गुन शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को प्रदोषकाल में दहन किया जाता है। वहीं प्रतिपदा, चतुर्दशी और भद्राकाल में होली दहन के लिए सख्त मनाही है। फाल्गुन पूर्णिमा पर भद्रा रहित प्रदोषकाल में होली दहन को श्रेष्ठ माना गया है। इसी के साथ ही होलिका दहन में आहुति देना भी आवश्‍यक माना गया है। होलिका में कच्चे आम, नारियल, भुट्टे या सप्तधान्य, चीनी के बने खिलौने, नई फसल का कुछ भाग गेंहूं, उडद, मूंग, चना, जौ, चावल और मसूर. आदि की आहुति दी जाती है।

जानें होलिका दहन 2018 का शुभ मुहूर्त
सुजीत महाराज के अनुसार, 1 मार्च को सायंकाल 06:26 मिनट से रात्रि 08:55 मिनट तक है। कुल अवधि 2:29 घंटे की प्राप्त हो रही है। पूर्णिमा भी 1 मार्च को प्रातः 08:57 मिनट से 2 मार्च को शाम 06:21 मिनट तक है।

वहीं होलिका दहन की रात को तंत्र साधना होने के कारण आपको ये काम नहीं करने चाहिए –

– इस दौरान सफेद रंग की खाने पीने की चीजों के सेवन से बचना चाहिए। दरअसल इस शाम टोने-टोटके के लिए सफेद खाद्य पदार्थों का उपयोग किया जाता है। इसलिए इस दिन सफेद खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना चाहिये।

क‍िसी भी तरह के टोटके का प्रयोग सिर पर जल्दी होता है, इसलिए होलिका दहन वाले द‍िन सिर को ढककर रखने की सलाह दी जाती है।

शराबबंदी का तोड़, दारू पीने के लिए बना डाला टापू….

– टोने-टोटके को प्रभावशाली बनाने के लिए में व्यक्ति के कपड़ों का प्रयोग किया जाता है, इसलिए अपने कपड़ों का ध्यान रखें। इनका कोई भी टुकड़ा इधर उधर न फेंके और न ही इसे अपने से ईर्ष्‍या करने वालों के हाथ लगने दें।

– गर्भवती महिलाएं भी इस द‍िन खास सावधानी बरतें। गर्भस्‍थ शिशुओं और छोटे बच्‍चों पर तंत्र-मंत्र का असर जल्‍दी होता है।

– भूल से भी अनजानी वस्‍तुओं को न छुएं और ना ही घर में लेकर आएं।

कैसे बचें टोटकों से
होली पर पूरे दिन अपनी जेब में काले कपड़े में बांधकर काले तिल रखें। रात को जलती होली में उन्हें डाल दें। माना जाता है कि इस तरह आप पर हुआ कोई भी टोटका खत्‍म हो जाएगा।

VIDEO राशिफल 2018 पूरे वर्ष का राशिफल एक साथ || ग्रह नक्षत्रों का बारह राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए, और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE और वीडियो के लिए विजिट करे हमारा चैनल और सब्सक्राइब भी करे सबगुरु न्यूज़ वीडियो