प्रीमियम श्रेणी के दुपहिया वाहनों की बिक्री पर जोर देगी होंडा

Honda will insist on the sale of premium two-wheelers
Honda will insist on the sale of premium two-wheelers

मिलान। दुपहिया वाहन निर्माण की प्रमुख कंपनी होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड भारतीय बाजार में अगले साल प्रीमियम श्रेणी की मोटरसाइकिल और स्कूटर उतारने की आक्रमक रणनीति बना रही है जिससे भारतीय बाजार की संभावनाओं का पूरा इस्तेमाल किया जा सके।

कंपनी के ब्रांड ऑपरेटिंग प्रमुख और उपाध्यक्ष प्रभु नागराज ने मंगलवार को यहां बताया कि भारतीय बाजार में प्रीमियम श्रेणी के दुपहिया वाहनों की मांग में भारी इजाफा हो रहा है। देश में युवाओं में प्रीमियम श्रेणी के वाहनों में रूचि बढ़ रही है।

परंपरागत तौर पर भारतीय बाजार यात्री वाहनों के लिए जाना चाहता है लेकिन अर्थव्यवस्था का स्वरूप बदलने और व्यक्तिगत आय बढ़ने के कारण प्रीमियम श्रेणी के वाहनों की बिक्री में वृद्धि हो रही है।

उन्होंने बताया कि होंडा भारतीय बाजार में उन दुपहिया वाहनों को भी भारतीय युवाओं के लिए पेश करने की तैयारी कर रहा है जो अभी तक यूरोपीय बाजार में ही देखे जा सकते हैं।

नागराज ने बताया कि कंपनी यूरोप के पर्यावरण मानकों को पूरा कर रही है और इन वाहनों को भारतीय बाजार में भी उतारा जाएगा। इससे पहले कंपनी के यूरोपीय क्षेत्र के वरिष्ठ उपाध्यक्ष टॉम गार्डनर ने मोटरसाइकिल सीबीआर 1000 आर आर के नए संस्करण को वैश्विक स्तर पर जारी किया।

उन्होंने बताया कि इसमें नई तकनीक का इस्तेमाल किया गया है जिसके कारण यह पर्यावरण के आधुनिक मानकों के अनुरूप है और इसकी क्षमता में भी वृद्धि की गई है। इसके साथ ही एस एच 125 आई , सीएमएस 500 रिबेल और अफ्रीका ट्विन के नए संस्करण भी वैश्विक बाजार में उतारे गये है तथा सीबी 1000 आर, मोटरसाइकिल का नया संस्करण जारी किया गया।

यह सभी वाहन वर्ष 2020 की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए तैयार किए गए हैं। नागराज ने बताया कि जारी किए गए सभी दुपहिया वाहन भारतीय ग्रामीण परिस्थितियों और आवश्यकता के अनुरूप है। इन सभी वाहनों को अगले वर्ष के अंत तक भारतीय बाजार में जारी कर दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि नये वाहन निश्चित रूप से भारतीय युवाओं और उपभोक्ताओं को पसंद आएंगे। कंपनी ग्रामीण क्षेत्रों में भी अपना डीलर नेटवर्क बढ़ाने की योजना भी बना रही है। इस योजना को प्रयोग के तौर पर गुड़गांव में लागू किया जा चुका है और यह सफल रही है।

उन्होंने बताया कि दिवाली के अवसर पर कंपनी के दुपहिया वाहनों की बिक्री से यह साफ हो गया है कि भारतीय बाजार में होंडा के वाहनों के प्रति भरोसा है और कंपनी इसका पूरा लाभ उठाएगी।

नागराज ने कहा कि देश में स्वच्छ ऊर्जा से चलने वाले वाहनों के लिए होंडा अगले साल अनुकूलता रिपोर्ट तैयार करेगी। उन्होंने कहा कि भारत में अभी बिजली से चलने वाले वाहनों के लिए बुनियादी ढांचा विकसित करने की जरूरत है।

मोटरसाइकिल और स्कूटर जैसे दुपहिया वाहनों की ग्रामीण क्षेत्रों में भारी मांग है तथा ज्यादातर लोग दुपहिया वाहनों का इस्तेमाल रोजमर्रा की जिंदगी में करते हैं। ऐसे में इनके लिए बुनियादी ढांचा विकसित करना जरूरी है।