रूद्रपुर में हनीट्रैप गैंग का पर्दाफाश, तीन सदस्य अरेस्ट

नैनीताल। उत्तराखंड के रूद्रपुर में हनीट्रैप का मामला सामने आया है। पुलिस ने एक गैंग का पर्दाफाश किया है, जिसमें दो लड़कियां भी शामिल हैं। पुलिस ने गैंग के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है।

रूद्रपुर पुलिस अधीक्षक ममता बोहरा ने रविवार को पत्रकारों के समक्ष इस मामले का खुलासा किया। उन्होंने कहा कि गैंग में कुल छह सदस्य हैं। जिनमें दो महिला सदस्य भी शामिल हैं। ये पहले लोगों को अपने जाल में फंसाती हैं और उसके बाद गैंग के अन्य सदस्य ब्लैक मेलिंग के बहाने बड़ी रकम की मांग करती हैं।

उन्होंने बताया कि गैंग के सदस्य अभी तक चार मामलों को अंजाम दे चुके हैं। पिछले सप्ताह गुरूवार को भी गैंग की महिला सदस्य पूजा ने लालकुआं निवासी मोहम्मद यामीन को अपने जाल में फंसाया और उसके मोबाइल पर बात कर उसे रूद्रपुर अकेले में बुलाया। यामीन तय समय पर रूद्रपुर पहुंच गया और उसके बाद लड़की उसे शांति विहार कालोनी में एक खाली घर में ले गई।

यहां लड़की ने बंद कमरे में लड़के और अपने कपड़े उतार लिए और इतने में कमरे में गैंग के अन्य सदस्य प्रवेश कर वीडियो बना लेते हैं। फिर पुलिस की वर्दी में दीवान सिंह प्रवेश करता है और लड़के से दस लाख की मांग की। घटना से घबराए यामीन ने उन्हें लालकुआं कपड़े की शोरूम में ले जाकर 27 हजार रूपए दे दिए।

इसके बाद गैंग के सदस्य यामीन को रूद्रपुर में छोड़कर फरार हो गए। इसके बाद यामीन ने पुलिस में शिकायत की और पुलिस ने मामला दर्ज कर गैंग के सदस्यों को पकड़ने के लिए कई टीमों का गठन किया।

उन्होंने आगे बताया कि पुलिस ने गैंग के तीन सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है। जिनमें कुलविंदर, मोनू व दीवान सिंह शामिल हैं। मोनू उप्र के बरेली का रहने वाला है। कुलविंदर का मकान मालिक है जो घटना में प्रयुक्त होता है। जबकि दीवान पुलिस के भेष में पैसों की मांग करता है।

उन्होंने बताया कि गैंग के तीन सदस्य बलबीर, दीपा व पूजा फरार हैं। उनकी खोज की जा रही है। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त टियागों कार, मोबाइल व कुछ नकदी भी बरामद कर ली है। उन्होंने बताया कि गैंग काशीपुर, बहेड़ी व शक्तिफार्म में भी हनीट्रैप की तीन मामलों को अंजाम दे चुके हैं।