भूकंप के लिए 38 मिनट : राम माधव ने राहुल गांधी पर कसा तंज

Hours before No Trust Debate, Ram Madhav mocks at Rahul gandhi
Hours before No Trust Debate, Ram Madhav mocks at Rahul gandhi

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के नेता राम माधव ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के उस बयान को लेकर गुरुवार को उन पर तंज कसा जिसमें उन्होंने कहा था कि जब वह मोदी सरकार के खिलाफ बोलेंगे तो ‘भूकंप’ आ जाएगा।

राम माधव ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ पहले अविश्वास प्रस्ताव पर शुक्रवार को होने वाली बहस के लिए कांग्रेस पार्टी को 38 मिनट आवंटित करने के लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के निर्णय पर एक समाचार रिपोर्ट को साझा करते हुए ट्वीट किया कि प्रस्ताव को पेश करने वालों (तेलुगू देशम पार्टी) को 13 मिनट और भूकंप के लिए 38 मिनट।

दिसंबर 2016 में, नोटबंदी विवाद के दौरान राहुल गांधी ने कहा था कि अगर वे मुझे बोलने की अनुमति देते हैं (नोटों पर प्रतिबंध लगाने पर) तो आप देखेंगे कि क्या भूकंप आएगा।

संसद के दोनों सदनों और राज्य विधानमंडलों में सदस्यों की संख्या के अनुपात में चर्चा के लिए समय आवंटित किया जाता है। राज्य विधानसभाओं या संसद के दोनों सदन में पार्टियों की संबंधित संख्यात्मक ताकत के आधार पर समय का निर्धारण किया जाता है।

संसद में मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस, जिसके लोकसभा में 48 सदस्य हैं, को अविश्वास प्रस्ताव पर अपने विचार प्रस्तुत करने के लिए 38 मिनट आवंटित किए गए हैं।

राहुल गांधी सरकार के खिलाफ पार्टी के आरोप का नेतृत्व करने के लिए तैयार हैं, जबकि पार्टी के सदन में नेता मल्लिकार्जुन खड़गे कांग्रेस के दूसरे सांसद होंगे जिनके चर्चा में भाग लेने की संभावना है।